देशबड़ी खबरें

इस IAS को पिता कि मार ने बनाया था अफसर,अब एक्टिंग में भी मनवा रहे हैं अपना लोहा

This IAS was made an officer by his father's beating, now he is proving his mettle in acting as well

नमस्कार दोस्तों, फोर्थ आई न्यूज़ में आप सभी का स्वागत है। दोस्तों जैसा कि हम सभी जानते हैं कि भारतीय समुदाय का एक बड़ा युवावर्ग प्रशासनिक सेवा में जाकर नौकरी करना चाहता है, इसके लिए दिन-रात खूब पढ़ाई करनी पड़ती है, खूब मेहनत करनी पड़ती है, तब जाकर यह मुकाम हासिल होता है। और उस मुकाम तक पहुँचने के बाद किसी भी तरह से उसपर बने रहने की ज़द्दोज़हद जारी रहती है। कोशिश यह रहती है कि इस पद पर रहने के दौरान कोई ऐसी त्रुटि ना हो जिससे इस पेशे पर सवाल उठें, मगर कुछ लोग इससे बेफिक्र अपने पैशन को फॉलो करते हैं। आज हम आपको एक ऐसे ही आईएस के बारे में बताने जा रहे हैं जिन्होनें आईएस बनने के बावजूद अपने दिल की आवाज़ सुनी। और आज अभिनय के क्षेत्र में भी वो अपना नाम कमा रहे हैं।

यह आईएस अफसर हैं अभिषेक सिंह, मूलतः उत्तरप्रदेश के रहने वाले IAS अभिषेक सिंह को बचपन से ही अफसर बनने का ख्वाब नहीं था बल्कि उनकी दिलचस्पी तो एक्टिंग में थी। उनके पिता पुलिस विभाग में थे लिहाज़ा बार-बार ट्रांसफर होने पर अभिषेक ने अपना बचपन उत्तर प्रदेश के अलग-अलग इलाकों में बिताया। बचपन से ही अभिषेक सिंह फिल्मों के प्रति आकर्षित थे, यहाँ तक कि वह स्कूल बंक करके भी फिल्म देखने जाया करते थे. बचपन में वह बहुत शैतान थे. इसलिए पिताजी से बहुत मार पड़ती थी. घर पर पिताजी बहुत सख्त थे, अभिषेक के मुताबिक पिताजी की मार की वजह से ही वो IAS बन पाए।

IAS अभिषेक सिंह ने 12वीं के बाद उन्होंने बी.कॉम. की. उन्होंने ग्रैजुएशन के पहले साल से ही IAS की तैयारी शुरू कर दी. तैयारी के लिए वह दिल्ली के राजेंद्र नगर में रहते थे और यहां उन्होंने 1 साल की कोचिंग भी की. अभिषेक सिंह ने साल 2011 में यूपीएससी परीक्षा पास की थी और आईएएस में शामिल होने पर 94वें स्थान पर थे.

अपनी ट्रेनिंग के बाद अभिषेक सिंह ने कुछ समय तो भरपूर अपनी प्रशासनिक सेवा को दिया मगर मन में दबी कसक बार-बार उभर रही थी, लिहाज़ा अभिषेक सिंह ने अपने सोशल मीडिया पर अपनी एक्टिंग से जुडी कुछ क्लिप्स शेयर करनी शुरू कीं, इसका उन्हें गज़ब का रिस्पांस मिला। आपको बता दें कि फेमस कास्टिंग डायरेक्टर मुकेश छाबड़ा से अभिषेक की दोस्ती है. अभिषेक ने दिल्ली क्राइम सीरीज में एक IAS ऑफिसर का रोल प्ले किया था. हालांकि, अभिषेक का रोल बाद में दिल्ली क्राइम सीरीज से हटा दिया गया था. लेकिन उन्होंने बताया कि इसी सीरीज़ की वजह से उन्हें कई ऑफर्स आने लगे. इसकी वजह से वो और सुर्ख़ियों में आए उनके कई इंटरव्यू छपे. इनमें उनके कई फोटोज भी थे. इन्हीं में से एक फोटो पर डायरेक्टर आशीष पांडा की नजर पड़ी. उन्होंने टी-सीरीज द्वारा अभिषेक से कॉन्टैक्ट लिया. और उन्हें ‘दिल तोड़ के’ गाने के लिए कास्ट किया।

IAS अभिषेक सिंह ने T-Series के कई गानों में एक्टिंग की है. उनके गानें हिट भी हुए हैं. लेकिन अभिषेक का कहना है कि उन्होंने एक्टिंग फीस के तौर पर एक रुपये में भी नहीं लिए हैं. उन्होंने कहा कि सर्विस में रहते हुए वे पैसे नहीं लेंगे. वहीं, Instagram पर 3 मिलियन फॉलोअर्स हैं, क्या इससे वे कमाई भी करते हैं? इस पर अभिषेक ने कहा कि वे ब्रांड प्रमोशन नहीं करते और इसकी वजह से इंस्टाग्राम से भी कमाई नहीं होती. अभिषेक कहते हैं कि वह ऐसे रोल ही एक्सेप्ट करते हैं जिससे समाज को कोई मैसेज मिले. अभिषेक ने बताया कि उनकी एक मूवी की भी शूटिंग चल रही है.

वहीं अभिषेक यह भी बताते हैं कि जब उनका पहला म्यूजिक वीडियो रिलीज़ हुआ तब उनके पिता का कहना था कि मुझे समझ नहीं आ रहा है कि तुम क्या कर रहे हो. इतनी अच्छी नौकरी मिली है. इतना मान-सम्मान है तो अच्छे से काम करो. ये क्या कर रहे हो. इसको करके क्या फायदा है. वहीं, मां के रिएक्शन को लेकर अभिषेक बोले- मम्मी तो खुश हैं. मम्मी कहती हैं कि जिसमें तुमको खुशी मिले वह करो. हालांकि अभिषेक यह भी स्वीकारते हैं कि अगर वो IAS ना होते तो आज फ़िल्मी दुनिया के एक बहुत बड़े स्टार होते मगर पापा की स्ट्रिक्टनेस की वजह से उन्हें जबरदस्ती IAS बनना पड़ा। वैसे आप इस आईएएस अफसर के बारे में क्या राय रखते हैं क्या इन्हें फुल टाइम प्रशासनिक सेवा करनी चाहिए जिसके लिए इन्होनें इतनी तैयारी करते हुए मेहनत की है या फिर पार्ट टाइम एक्टिंग कर रहे हैं इसपर भी कोई गुरेज़ नहीं होनी चाहिए। आईएस अधिकारीयों के ग्लैमर वर्ल्ड में आने को आप कितना सही मानते हैं ?

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button