entertainment

चारु सब कैमरे के लिए करती हैं,पत्नी के आरोप पर बोले सुष्मिता सेन के भाई राजीव

सुष्मिता सेन के भाई राजीव सेन और उनकी पत्नी चारु असोपा के बीच मदभेद खत्म ही नहीं हो रहे। एक बार फिर राजीव ने पत्नी चारु पर आरोप लगाया है। राजीव सेन ने अपने यूट्यूब चैनल के जरिये अपने दिल की बात शेयर की हैं। राजीव ने कहा है कि चारु केवल रास्ता खोजती हैं कि वह किस तरह मुझ पर आरोप लगा सकती हैं। उन्होने यह भी कहा है कि अपने यूट्यूब पर व्यूज पाने के लिए चारु बेटी जियाना के नाम का इस्तेमाल करती हैं। हर वक्त और हमेशा मर्द ही गलत नहीं होता है। ब्लॉग में राजीव सेन ने कहा कि, चारु उनके ऊपर एक और आरोप लगाई है।

उन्होनें कहा, चारु जब भी सुबह उठती हैं तो सोचती हैं कि आज राजीव पर क्या आरोप लगाना है? चारु में बचपना है। मुझे यह समझ नहीं आता कि उन्होंने ऐसा क्यों बोला कि मैं बेटी जियाना और उनका नाम व्यूज पाने के लिए लेता हूं। मैं यह बताना चाहता हूं कि बीते एक महीने से मैंने ब्लॉग पर अपना सारा कंटेंट परिवार के लिए बनाया है। जियाना मेरे पास नहीं है। वह चारु के पास है। कंटेंट की बात की जाए तो चारु ने जियाना का बखूबी इस्तेमाल किया है। चारु ने जियाना का इस्तेमाल किया है।

राजीव सेन ने खुद पर उठे सवालों और आरोपों पर कहा है कि आप प्लीज यह समझ लीजिए कि मैं किन हालातों से गुजर रहा हूं। चारु और मेरे बीच बात नहीं बन पाई। हम दोनों के रास्ते अलग हो गए हैं। पेपर तैयार हो गया है। साइन भी हो गया। तारीक भी निकल गई है। हम अब साथ नहीं हैं। मेरी यही कोशिश रहेगी कि बेटी जियाना के लिए मैं हमेशा मौजूद रहूं। राजीव आगे कहते हैं कि लाइफ बहुत छोटी है। मुझे समझिए। मेरी बेटी पास में नहीं है। हम अलग हो रहे हैं।मैंने चारू को बहुत पहले बोला था कि 6 महीने का ब्रेक लेते हैं। बेटी पर फोकस करते हैं। हमेशा कैमरे के लिए नहीं करते हैं। जियाना के बिना ब्लॉग बनाते हैं तब देखते हैं कि व्यूज बढ़ते हैं या नहीं। मेरी बेटी को मुझसे दूर कर दिया गया है। राजीव ने अपने बचाव में कहा है कि आदमी को गलत बोल देना आसान होता है। चारु सब कैमरे के लिए करती है। मंदिर जाना हो, व्रत दिखाना हो, उसका सबकुछ कैमरे के लिए होता है। बता दें कि चारु असोपा ने बालवीर, मेरे अंगने में जैसे शो से नाम कमाया है। साल 2019 में उन्होंने राजीव सेन से शादी की।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button