KORBA: लगातार बारिश से बांध लबालब, बांगो बांध (Bango Dam) के पांच गेटों से छोड़ा जा रहा पानी

कोरबा, छत्तीसगढ़ में लगातार हो रही बारिश से माचाडोली के मिनीमाता बांगो बांध (Bango Dam) में पानी की आवक कम नहीं हो रही है। पिछले दो दिनों से परियोजना के जलग्रहण क्षेत्र में रूक-रूक कर हो रही बारिश से बांध का जलस्तर कल 358.36 मीटर पर स्थिर है। बांध के पांच गेटों को खोलकर नदी में पानी छोड़ा जा रहा है। बांध अपनी अधिकतम क्षमता का 91 प्रतिशत से भी अधिक भर गया है।

बांध में पानी का जलभराव की बढ़ती स्थिति को देखते हुए जल संसाधन विभाग और जिला प्रशासन पूरी तरह से अलर्ट पर है। कलेक्टर किरण कौशल समय-समय पर बांध में पानी भराव और छोड़े गए पानी की जानकारी अधिकारियों से लगातार ले रहीं हैं। बांध में जलभराव को देखते हुए गेटों को खोलकर क्रमबद्ध तरीके से पानी हसदेव नदी में छोड़ जा रहा है। बांध के खुले पांच गेटों से नदी में 25 हजार 836 क्यूसेक पानी छोड़ा जा रहा है।

माचाडोली मिनीमाता परियोजना के कार्यपालन अभियंता केशव कुमार ने बताया कि बांध का अधिकतम जलभराव स्तर 359.66 मीटर निर्धारित है। जलभराव की स्थिति को देखते हुए बांध के पांच गेट खोले गए हैं। पांच खुले गेटों से हसदेव नदी में 25 हजार 836 क्यूसेक पानी छोड़ा जा रहा था।

बांध के गेट नंबर 4 और 8 को 70 सेंटीमीटर तक, 5 और 7 को आधा मीटर तथा गेट नंबर 6 को दो मीटर तक खोल दिया गया है। बांध से लगे पनबिजली संयंत्र के लिए 9 हजार क्यूसेक पानी भी छोड़ा जा रहा है, जिसे मिलाकर हसदेव नदी में पानी का कुल डिस्चार्ज 34 हजार 836 क्यूसेक पानी का डिस्चार्ज हो रहा है।

कार्यपालन अभियंता केशव कुमार ने बताया कि रूक-रूक कर हो रही बारिश से हसदेव की सहायक नदियों और बांध के जलग्रहण क्षेत्र के पानी से माचाडोली का मिनीमाता बांगो बांध (Bango Dam) में लगातार आ रहा है। कुमार ने बताया कि मिनीमाता बांगो बांध (Bango Dam) से पानी छोड़ने के मात्रा बढ़ाने से पहले से ही बांध से नीचे, हसदेव नदी के किनारे, बाढ़ क्षेत्र में अलर्ट जारी कर आबादी को सुरक्षित जगह पर जाने की सूचना जारी कर दी गई है।

गांव-गांव में मुनादी करा कर भी चल-अचल सम्पत्तियों को सुरक्षित स्थानों पर ले जानेे की सूचना दी गई है। इसके साथ ही सीमावर्ती जिलों जांजगीर-चांपा और रायगढ़ सहित हीराकुंड परियोजना के संबलपुर उड़ीसा के अधिकारियों को भी पानी छोड़ने के संबंध मे सूचना भेज दी गई है।

हसदेव बराॅज के भी दो गेट खुले, 17 हजार क्यूसेक से अधिक पानी का डिस्चार्ज- हसदेव बराॅज परियोजना दर्री के कार्यपालन अभियंता ने बताया कि बांगो बांध (Bango Dam) से पानी छोड़ने पर हसदेव बराॅज का भी जलस्तर बढ़ता है और बराॅज के जलस्तर को बनाए रखने के लिए गेट खोलकर पानी नदी में तथा दायीं-बायीं केनालो में डिस्चार्ज किया जाता है। उन्होने बताया कि बांध से पानी छोड़ने के साथ ही पहले से लबालब दर्री बराॅज के भी आज सुबह तीन गेट खोले गए थे।

कार्यपालन अभियंता ने बताया कि दर्री बराॅज से आज सुबह से लगभग 23 हजार 695 क्यूसेक पानी नदी और दोनो नहरों में डिस्चार्ज किया गया है। बराॅज का जलस्तर बनाए रखने के लिए दोपहर में एक गेट बंद कर दिया गया है। अभी बराॅज के गेट नंबर 7 को आठ फीट और गेट नंबर 11 को पांच फीट खोला गया है। दोनो गेटों से 17 हजार 325 क्यूसेेक पानी नदी में छोड़ा जा रहा है। इसी तरह दायीं तट नहर से 2 हजार 739 क्यूसेक और बायीं तट नहर से 3 हजार 631 क्यूसेक पानी छोड़ा जा रहा है।

corona Update और National News के साथ Chhattisgarh और Madhyapradesh से जुड़ी खबरें पढ़े

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *