एक कोरोना पॉजिटिव मरीज को न बेड मिला न एंबुलेंस, चलती बाइक पर ही तोड़ी दम

रतलाम मेडिकल कॉलेज में 2 घंटे तक बेड के लिए जद्दोजहद करने के बाद भी जब मरीज को जगह नहीं मिली तो भाई अनिल उन्हें आयुष ग्राम प्राइवेट अस्पताल लेकर गए। प्राइवेट अस्पताल ले जाते समय मरीज ने बाइक पर ही दम तोड़ दिया। वकील सुरेश डागर की तबीयत खराब होने पर उन्हें भाई अनिल और मां बाइक पर मेडिकल कॉलेज लेकर गए थे। कोरोना मरीज होने की वजह से बड़ी देर तक सड़क पर परेशान हो रहे परिवार की मदद के लिए कोई भी आगे नहीं आया। पुलिसकर्मियों की मदद से शव को जिला अस्पताल पहुंचाया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button