AIIMS RAIPUR : कोरोना के 2 मरीज ठीक, 3 नए केस, एक्टिव केस की संख्या हुई 4

  • एम्स में कोरोना वायरस के कुल केस हुए चार, सूरजपुर के तीन रोगी शामिल
  • छह को क्वारेंटाइन भेजा गया, एक का टेस्ट पुनः किया जाएगा एम्स में
  • सभी की हालत स्थिर बनी हुई है, चारों को निरंतर दिया जा रहा है उपचार

रायपुर,  अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान रायपुर(AIIMS RAIPUR) में सूरजपुर के 09 संदिग्ध कोरोना वायरस संक्रमित रोगियों का कंफर्मेटरी टेस्ट किया गया जिसमें से तीन को पॉजीटिव पाया गया है जबकि छह को नेगेटिव पाए जाने के बाद क्वारेंटाइन में रहने की सलाह दी गई है। इसके अलावा एम्स से प्रातः कटघोरा, कोरबा के दो रोगियों को डिस्चार्ज कर दिया गया। वर्तमान में एम्स में कोरोना वायरस के 04 पॉजीटिव रोगी उपचार प्राप्त कर रहे हैं।

एम्स रायपुर (AIIMS RAIPUR) के निदेशक प्रो. (डॉ.) नितिन एम. नागरकर ने बताया कि 29 अप्रैल को प्राप्त सभी नौ सैंपल का आरटी-पीसीआर की मदद से 30 अप्रैल को कंफर्मेटरी टेस्ट किया गया। इसमें दो को पॉजीटिव पाया गया। सूरजपुर का एक अन्य रोगी पं. जवाहर लाल नेहरू मैमोरियल मेडिकल कालेज, रायपुर द्वारा पूर्व में पॉजीटिव पाया गया था। इस प्रकार सूरजपुर के कुल तीन रोगियों का एम्स के कोविड-19 वार्ड में इलाज चल रहा है। इनके अलावा एक नर्सिंग ऑफिसर भी उपचार प्राप्त कर रहा है। अब यहां कुल चार रोगी कोविड-19 का ट्रीटमेंट ले रहे हैं। सभी की हालत स्थिर बनी हुई है।

छह रोगियों को माना स्थित क्वारेंटाइन सेंटर में भेज दिया गया है जबकि एक रोगी का पुनः टेस्ट किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि सूरजपुर के सभी रोगियों की अन्य प्रदेशों में ट्रेवल हिस्ट्री थी और ये सभी छत्तीसगढ़ से गुजरकर झारखंड जा रहे थे। इनकी उम्र कमशः 58, 26 और 25 वर्ष है और तीनों पुरुष हैं।

इससे पूर्व, प्रातः एम्स की ओर से कटघोरा, कोरबा के दो रोगियों को ठीक होने के पश्चात डिस्चार्ज कर दिया गया। इसमें एक गर्भवती महिला और एक पुरुष शामिल हैं। अब रायपुर एम्स (AIIMS RAIPUR) में कटघोरा का कोई रोगी नहीं है। प्रो. नागरकर ने बताया कि सभी चारों रोगियों की हालत पर विशेषज्ञ टीम नजर रखे हुए है और इन सभी को आईसीएमआर की गाइडलाइंस के अनुसार उपचार प्रदान किया जा रहा है। सभी अपने उपचार का ठीक रेस्पांस दे रहे हैं। सभी की हालत स्थिर बनी हुई है।

******

रायगढ़ मेडिकल कालेज को कोविड-19 टेस्टिंग की मंजूरी

एम्स रायपुर ने स्व. लक्खी राम अग्रवाल मैमोरियल गर्वमेंट मेडिकल कालेज, रायगढ़ को कोविड-19 की टेस्टिंग करने की अनुमति प्रदान कर दी है। निदेशक प्रो. (डॉ.) नितिन एम. नागरकर ने बताया कि आईसीएमआर के निर्देशों के अनुरूप रायगढ़ में यह टेस्टिंग सुविधा प्रारंभ की जा रही है। अब छत्तीसगढ़ में कोविड-19 टेस्टिंग की चार स्थानों पर सुविधा उपलब्ध होगी जिसमें जगदलपुर, रायगढ़ की एक-एक और रायपुर की दो लैब शामिल होंगी। इसमें एम्स की वीआरडी लैब भी शामिल है। प्रो. नागरकर ने उम्मीद व्यक्त की है कि इससे कोविड-19 की टेस्टिंग काफी अधिक बढ़ जाएगी जिससे सर्विलांस में काफी मदद मिलेगी।

 

National Chhattisgarh  Madhyapradesh  से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें

Facebook पर Like करें, Twitter पर Follow करें  और Youtube  पर हमें subscribe करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button