छत्तीसगढ़

मुख्यमंत्री ने माता चंडी मंदिर से भेट-मुलाकात कार्यक्रम स्थल तक रोड शो किया

पत्नी और पिता द्वारा शराब पीने से मना करने पर नशा के लिए बौखलाए युवक ने बार-बार आत्महत्या करने की धमकी देते हुए दीवार में टकराकर सिर फोडऩे के बाद लहूलुहान होने पर जैसे ही परिजन उसके पास से हटे उसने अंतत: फांसी का फंदा बनाकर आत्महत्या कर ही लिया।
जानकारी के अनुसार पाली थाना के चैतमा पुलिस चौकी क्षेत्रांतर्गत ग्राम सेंद्रीपाली निवासी युवक जगमोहन यादव उम्र 25 की शादी 6 वर्ष पूर्व आंझी यादव के साथ हुई थी। इस दौरान यादव दंपत्ति से दो बच्चे भी पैदा हुए जिनकी उम्र क्रमशरू 3 एवं 5 वर्ष की बताई जा रही है। शादी होने के बाद जगमोहन यादव घर में खेती.किसानी में अपने पिता संतलाल यादव उम्र 50 का सहयोग करते चला आ रहा था लेकिन इसी दौरान दोस्तों के संगत में आकर उसने शराब का शौक पाल लिया। देखते ही देखते उसकी हालत यहां तक बिगड़ गई कि वह बगैर मदिरापान के एक घंटा भी रहना उसके लिए दुष्कर हो जाता था। विगत 28 सितंबर को उसका पिता संतलाल यादव तथा उसकी पत्नी आंझी ने उसे शराब पीने से मना करते हुए समझाना शुरू कर दिया तो वह पूरी तरह से बौखला गया। जिसके कारण उसने घर में रखे सामानों को फेंकना व तोडऩा शुरू कर दिया। विवश होकर परिवार के लोगों ने उसे एक कमरे में बंद किया तो उसी दौरान उसने दीवार में टक्कर मारकर अपना सिर फोड़ लिया। उसके लहूलुहान हालत को देखते हुए उसका पिता एवं पत्नी ने कमरे का दरवाजा खोलकर उसे बाहर निकाला। खाना खाने के बाद एक ओर जहां सभी लोग सोने चले गए वहीं बगैर खाना खाए आत्महत्या की धमकी देने वाला जगमोहन यादव अपने कमरे में सोने गया लेकिन आधा घंटे बाद वह अपने बिस्तर से उठकर बाड़ी में चला गया और इसी दौरान उसने रस्सी से फांसी का फंदा बनाकर आत्महत्या कर लिया। सुबह जानकारी होने पर चैतमा चौकी पुलिस को सूचना दी गई।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button