Corona positive आने पर स्वास्थ्य विभाग (health Department) को मिलता है डेढ़ लाख रुपए ?

राजनांदगांव, देश के कई हिस्सों में यह चर्चा आम हो चली है कि किसी के कोरोना पॉजिटिव (Corona positive) आने पर स्वास्थ्य विभाग को (health Department) को डेढ़ लाख रुपए मिलता है. लिहाजा कई लोगों को जान बूझकर कोरोना पॉजिटव (Corona positive) बताया जा रहा है. इसका जवाब राजनांदगांव के जिला अस्पताल (Rajnandgaon District Hospital) के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मिथलेश चौधरी ने दिया.

उन्होने कहा कि सोशल मीडिया एवं अन्य माध्यमों पर आ रहे भ्रामक जानकारी कोरोना पॉजीटिव (Corona positive) मरीज आने पर विभाग को ड़ेढ लाख रूपए मिलने जैसी खबर पूर्णत: गलत है. उन्होंने बताया कि किसी भी व्यक्ति के कोरोना पॉजीटिव आने पर स्वास्थ्य विभाग को डेढ लाख रूपए मिलने की बात पूरी तरह से कोरी अफवाह और निराधार है.

किसी भी व्यक्ति के कोरोना पॉजीटिव (Corona positive) आने पर राज्य शासन के प्रावधान एवं कोरोना प्रोटोकाल (Corona protocol) के अनुसार मरीजों का उपचार किया जाता है। ऐसा कोई प्रावधान है नहीं कि प्रति मरीज डेढ लाख रूपए की राशि प्राप्त हो. डॉ. चौधरी ने नागरिकों से अपील की है कि कोई भी व्यक्ति ऐसी अफवाह में आकर सैम्पल देने से संकोच न करें.

ऐसा कोई भी व्यक्ति जो पॉजीटिव मरीज के संपर्क में रहा हो अथवा जिन्हें कोरोना संबंधी कोई भी लक्षण हो उन्हें सैम्पल देना चाहिए. जिससे वह और उसका परिवार संक्रमित होकर संकट में आने से बच सकें.

ज्ञातव्य हो कि राजनांदगांव शहर का स्टेशन पारा क्षेत्र एक घनी बस्ती वाला रहवासी क्षेत्र है और विगत दिनों में स्टेशन पारा क्षेत्र में 14 कोरोना पॉजीटिव (Corona positive) मरीज मिल चुके है. जिसके कारण इस क्षेत्र कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया है.

क्षेत्र के पॉजीटिव मरीजों के परिवार के सदस्यों एवं संपर्क में आये सभी व्यक्तियों तथा कोरोना लक्षण (Corona symptoms) वाले लोगों का सावधानी बरतते हुए सैम्पल लिया जाएगा। ऐसी अफवाहें फैलाकर सैम्पल देने से आमजन को गुमराह कर उनकी जान जोखिम में डाला जा रहा है.

corona Update और National News के साथ Chhattisgarh और Madhyapradesh से जुड़ी खबरें पढ़े

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *