प्रभारी मंत्री एवं लोकसभा सांसद की उपस्थिति में हुई जिला क्राईसिस मैनेजमेंट कमेटी की बैठक

मुख्यमंत्री के निर्देशानुसार जिले में भी रहेगा अब 31 मई तक कोरोना कर्फ्यू, खाद – बीज की दुकान अब खुल सकेगी दोपहर 12 से शाम 4 बजे तक

प्रदेश के कैबिनेट एवं जिले के कोरोना प्रभारी मंत्री प्रेमसिंह पटेल की अध्यक्षता में शनिवार की शाम को जिला क्राईसिस मैनेजमेंट कमेटी की बैठक आयोजित हुई । बैठक में सर्वसहमति से तय किया गया कि मुख्यमंत्री के निर्देशानुसार जिले में भी अब कोरोना कर्फ्यू की अवधि 31 मई तक रहेगी । इस दौरान लोगो से कोरोना कर्फ्यू का पालन शक्ति से करवाया जाये । जिससे जिला कोरोना मुक्त हो सके और सामान्य गतिविधियॉ प्रारंभ करवाई जा सके ।

बैठक के दौरान तय किया गया कि किसानों की सुविधा के मददेनजर अब खाद-बीज – कीटनाशक दवाईयों की दुकान दोपहर 12 से शाम 4 बजे तक खुली रह सकेगी ।
    बैठक में कोरोना प्रभारी मंत्री प्रेमसिंह पटेल के साथ – साथ लोकसभा सांसद गजेन्द्रसिंह पटेल, कलेक्टर शिवराजसिंह वर्मा, पुलिस अधीक्षक निमिष अग्रवाल, अपर कलेक्टर लोकेश कुमार जांगिड, जिला पंचायत सीईओ ऋतुराजसिंह, अपर कलेक्टर रेखा राठौर, भाजपा जिलाध्यक्ष ओम सोनी, नगर पालिका अध्यक्ष लक्ष्मणसिंह चौहान, पूर्व सांसद सुभाष पटेल के साथ – साथ जिला क्राईसिस मैनेजमेंट समिति के शासकीय, अशासकीय सदस्य उपस्थित थे ।

जबकि  विडियो कांन्फ्रेसिंग के माध्यम से विकासखण्डो में गठित क्राईसिस मैनेजमेंट समिति के पदाधिकारी भी जुडे हुये थे ।  बैठक के दौरान सदस्यो ने जिले में लगातार घट रही कोरोना पाजिटिव लोगो की संख्या के मददेनजर खुशी व्यक्त करते हुये निश्चित किया कि बढ़ी हुई कोरोना कर्फ्यू की अवधि के दौरान पूर्व के समान दवाईयों की दुकाने, चिकित्सा संस्थानों, घर – घर जाकर सब्जी एवं दूध देने वाले को छूट रहेगी ।

अन्य लोग अत्यावश्यक होने पर ही बाहर निकल पायेंगे। अन्यथा की स्थिति में उल्लंघनकर्ताओं पर कठौर कार्यवाही की जायेगी । बैठक के दौरान तय किया गया कि किसानों की समस्या को देखते हुये अब जिले में खाद-बीज-कीटनाशक दवाई की दुकाने दोपहर 12 से शाम 4 बजे तक खुली रह सकेगी ।
    बैठक के दौरान तय किया गया कि खाद-बीज की सोसायटी एवं दुकानो पर भी सोशल डिस्टेंस का पालन अनिवार्य रूप से करवाया जाये । इसके लिये सरपंच-सचिव, रोजगार सहायक ग्राम स्तरीय क्राईसिस मैनेजमेंट समिति के सदस्यों का सहयोग लिया जाये । साथ ही इन संस्थाओं एवं दुकानो पर आने वाले किसानो का रेकार्ड रखते हुये थर्मल स्केनर एवं आक्सीमीटर से भी जॉच की जाये।

शक होने पर संबंधितों का सेम्पल अनिवार्य रूप से लेकर जॉच हेतु भेजा जाये, जिससे किसान बन्धु भी सुरक्षित रह सके ।  बैंको में हो रही भीड़ के मददेनजर तय किया गया कि टोकन देकर लोगो से सोशल डिस्टेंस का पालन करवाया जाये । साथ ही बीसी के माध्यम से भी अन्यंत्र स्थानों पर राशि दिलवाने की व्यवस्था का आकलन करवाया जाये । जिससे बैंको में अनिवार्य रूप से सोशल डिस्टेंस का पालन हो सके ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button