डीआरडीओ ने किया लेजर निर्देशित एंटी टैंक मिसाइल का सफल परीक्षण

नयी दिल्ली,  रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) ने महाराष्ट्र के अहमदनगर स्थित फायरिंग रेंज से देश में विकसित लेजर निर्देशित एंटी टैंक मिसाइल का सफल प्रायोगिक परीक्षण किया है। अधिकारियों ने बताया कि मिसाइल 4 किलोमीटर की दूरी तक मार कर सकती है।

ये भी पढ़ें – Hypersonic technology missile का सफल परीक्षण, डीआरडीओ की बड़ी कामयाबी

प्रयोगिक परीक्षण के तहत अहमदनगर में स्थित आर्म्ड कोर सेंटर एंड स्कूल स्थित केके रेंज में एक एमबीटी अर्जुन टैंक से इस मिसाइल को दागा गया। अधिकारियों ने कहा कि लेजर निर्देशित टैंक विध्वंसक मिसाइल (एटीजीएम) से भारतीय सेना की युद्ध शक्ति महत्वूपर्ण रूप से बढऩे की संभावना है, खासकर पाकिस्तान और चीन से लगती सीमाओं पर।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने एटीजीएम के सफल प्रायोगिक परीक्षण पर डीआरडीओ को बधाई दी। अधिकारियों ने कहा कि एटीजीएम पूर्ण सटीकता के साथ लक्ष्यों को निशाना बनाती है। अर्जुन टैंक डीआरडीओ द्वारा विकसित तीसरी पीढ़ी का मुख्य युद्धक टैंक है। पुणे स्थित आयुध अनुसंधान एवं विकास प्रतिष्ठान ने उच्च ऊर्जा पदार्थ अनुसंधान प्रयोगशाला तथा उपकरण अनुसंधान एवं विकास प्रतिष्ठान के सहयोग से इस मिसाइल का विकास किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *