Ganesha Chaturthi 2020 : 126 साल बाद बन रहा है ऐसा योग, जानिये शुभ महूर्त के बारे में

Ganesha Chaturthi 2020: पूरे देश में गणेश चतुर्थी की तैयारियां जोरों से चल रही हैं । कोरोना वायरस की वजह से वैसे तो कई त्योहारों को भक्त नहीं मना पाए हैं । और गणेश चुतुर्थी पर भी कोरोना वायरस का काली छाया दिखाई दे रही हैं ।लेकिन इस इस काली छाया से भक्तों के मन का विश्वास नहीं डिगा है और छोटे रूप में ही सही हर कोई अपने आराध्य की भक्ति में अपने-अपने तरीके से लीन है।

Ganesha Chaturthi 2020 : धूमधाम से मनाई जाती है गणेश चतुर्थी

इस साल 22 अगस्त यानी शनिवार को गणेश चतुर्थी का पर्व मनाया जाएगा। इस चतुर्थी को बहुत ही खास योग बन रहा। ऐसा योग 126 साल बाद बना है।गणेश चतुर्थी पर लोग गणेश जी को अपने घर लाते हैं, गणेश चतुर्थी के ग्यारहवें दिन धूमधाम के साथ उन्हें विसर्जित कर दिया जाता है और अगले साल जल्दी आने की प्रार्थना की जाती है।  गणेशजी को सभी देवताओं में प्रथम पूजनीय माना गया है। कोई भी शुभ कार्य करने से पहले गणेश जी की आरती की जाती है।22 अगस्त शनिवार के दिन गणेश चतुर्थी शाम 7:57 बजे तक है और हस्त नक्षत्र भी शाम 7:10 बजे तक है।

Ganesha Chaturthi 2020 :  शुभ महुर्त

इस दिन चौघड़िया मुहूर्त शुभ है। 22 अगस्त को दोपहर 12 बजकर 22 मिनट से शाम 4 बजकर 48 मिनट तक चर, लाभ और अमृत के चौघड़िया है।

Ganesha Chaturthi 2020 :  सूर्य सिंह राशि में और मंगल मेष राशि में हैं

इस वर्ष गणेश चतुर्थी ऐसे समय में मनाई जा रही है जब सूर्य सिंह राशि में और मंगल मेष राशि में हैं। सूर्य और मंगल का यह योग 126 साल बाद बन रहा है। यह योग विभिन्न राशियों के लिए अत्यंत फलदायी रहेगा। गणेश चतुर्थी पर हर साल जगह-जगह झांकी पांडाल सजाए जाते थे व प्रतिमाएं स्थापित की जाती थीं, लेकिन इस वर्ष कोरोना के चलते गणेश जी की झांकियां लगाना प्रतिबंधित है।

 

corona Update और National News के साथ Chhattisgarh और Madhyapradesh से जुड़ी खबरें पढ़े

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *