कोरोना संकट से आमदनी कम हो गई है, तो इन टिप्स के जरिए कम करें खर्च

नईदिल्ली, दुनिया और भारत देश में मौजूदा कोविड-19 संकट की वजह से कई लोगों की आमदनी या तो कम हो गई है, या फिर उनका रोजगार छिन गया है. कुछ लोगों के वेतन में भी कटौती करने के साथ ही, कुछ लोगों को बिना वेतन छुट्टी दे दी गई है.

ऐसे हालातों में सबके सामन सिर्फ एक हेल्थ इमरजेंसी ही नहीं बल्कि एक फाइनेंसियल इमरजेंसी भी खड़ी हो गई है । लिहाजा किस तरह आप इस परिस्थिति में खुदको आर्थिक रूप से मजबूत रख सकते हैं. इसके बारे में हम आपको बता रहे हैं.

सबसे पहले मौजूदा वक्त के हिसाब से अपना बजट तैयार करें

आपको समझना होगा कि आपका पुराना बजट इन नई परिस्थितियों में काम नहीं करेगा।

  • लाइफस्टाइल में जल्दी से जरूरी बदलाव करें। –
  • यदि आपकी नौकरी चली गई है या वेतन में कटौती हुई है तो तुरंत अपने बजट पर फिर से गौर करें ।
  • कैश रिजर्व तैयार करने पर ध्यान दें।
  • कम खर्चीली जिंदगी जीयें।
  • उसके बाद, अपने खर्च की प्रायोरिटी सेट करें।
  • अपने मनमौजी खर्च को कम करें।
  • अपने सभी खर्च और आमदनी की लिस्ट बनाएं ।

सख्ती बरतें – उन खर्चों से बचें जो आपकी जिंदगी के लिए जरूरी नहीं हैं। आपको कुछ समय तक अपनी सेविंग्स से काम चलाना होगा क्योंकि वैश्विक अर्थव्यवस्था को सुधरने में समय लगेगा। यदि आपके पास 6-8 महीने के लिए इमरजेंसी फंड है, और 3-4 महीने बाद भी आमदनी कम या नहीं होने वाली है, तो अपने खर्च में और कटौती करें। ऐसा करने का कोई-न-कोई तरीका जरूर होगा। उदाहरण के लिए, आप एक छोटे घर में शिफ्ट कर सकते हैं या ज्यादातर घर पर बनी चीजें खा सकते हैं।

हेल्थ और लाइफ इंश्योरेंस बंद न करें

आपकी नौकरी या आमदनी कम या बंद होने पर भी आपका हेल्थ और लाइफ इंश्योरेंस बंद नहीं होना चाहिए। क्योंकि एक वैश्विक-महामारी के दौरान, आपकी सेहत और जान का खतरा बहुत बढ़ जाता है। समय पर प्रीमियम देते रहें

सोच-समझकर उधार लें

नौकरी छूटने पर आप कर्ज के जाल में फंस सकते हैं । यदि आपके पास इमरजेंसी फंड नहीं है या नौकरी छूटने के बाद वह ख़त्म हो गया है तो आपको रोजमर्रा के खर्च के लिए उधार लेना पड़ सकता है।

जरूरत से ज्यादा उधार न लें –

ख़ास तौर पर ऐसी परिस्थिति में। ज्यादा इंटरेस्ट वाले कर्ज न लें। अनेक लोन लेने के बजाय, एक ऐसा लोन लें जिसकी लागत कम हो और जो आपकी जरूरत पूरी कर सके।

अस्थायी फाइनेंसियल सपोर्ट के लिए पार्ट-टाइम नौकरी या फ्रीलैंस वर्क करें

एक छोटा-सा फाइनेंसियल सपोर्ट भी, गंभीर फाइनेंसियल परेशानी से बचने में आपकी मदद कर सकता है यदि फुल-टाइम नौकरी ढूँढने में ज्यादा समय लग रहा हो। पार्ट-टाइम नौकरी उन लोगों के लिए भी मददगार है एक अच्छी नौकरी मिलने तक, फ्रीलैंस वर्क या पार्ट-टाइम नौकरी करें ।

कुछ समय के लिए इन्वेस्टमेंट रोक दें

नौकरी छूटने के बाद पैसे की तंगी से बचने के लिए कुछ समय के लिए अपना इन्वेस्टमेंट रोक दें। इससे आपके हाथ में अपने रोजमर्रा के खर्च के लिए ज्यादा पैसे रहेंगे। नौकरी मिलने के बाद, फिर से इन्वेस्टमेंट शुरू कर दें और छूटे हुए इन्वेस्टमेंट की भरपाई करने की भी कोशिश करें।

आपको ये जानकारी या खबर अच्छी लगे, तो इसे सिर्फ अपने तक मत रखिये, सोचिए मत शेयर कीजिये

CG corona Updateऔर MP Corona Updateदेश में Covid19का ताजा अंकड़ा देखने के लिए यहां क्लिक करें

Nationalन्यूज  Chhattisgarh और Madhyapradesh से जुड़ी  Hindi News से अपडेट रहने के लिए Facebookपर Like करें, Twitterपर Follow करें  और Youtube पर  subscribeकरें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button