10 राज्यो में फसे मज़दूरों के खाते में विधायक की मदद से पहुंचे पैसे

रामानुजगंज , विधायक बृहस्पत सिंह द्वारा प्रधानमंत्री राहत कोष एवं मुख्यमंत्री राहत कोष में राशि न भेज रामानुजगंज विधानसभा के 10 राज्यों से अधिक स्थानों पर फंसे 285 मजदूरों के खाते में सीधे 2 लाख 85 हजार रुपए ट्रांसफर किए। इस प्रकार प्रत्येक मजदूर के खाते में ?1000 राशि प्राप्त हुई। विधायक के इस अभिनव पहल की प्रशंसा मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने भी की।

विधायक बृहस्पत सिंह ने बताया कि रामानुजगंज विधानसभा के 500 से अधिक मजदूर देश के 10 राज्यों से अधिक स्थानों पर फंसे हुए हैं जिनकी लगातार सूचना मुझे मिल रही थी हम लोगों का प्रयास है कि जो मजदूर जहां फंसे हैं वही उनको समुचित व्यवस्था प्रदान हो सके इसकी पहल हम लोगों ने की है। इसलिए मैंने प्रधानमंत्री राहत कोष एवं मुख्यमंत्री राहत कोष में राशि न दे सीधे अपने क्षेत्र के मजदूरों के खाते में राशि अंतरित करवाई ताकि उन्हें आर्थिक मदद मिल सके।

सिंह ने बताया कि अभी मेरे पास 285 मजदूरों की सूची आई जिसके बाद 285 मजदूरों के खातों में राशि अंतरित कर दी गई वहीं फंसे हुए और मजदूरों की सूची मंगाई जा रही है उनके भी खाते में जल्द राशि अंतरित कर दी जाएगी। सिंह ने बताया कि हमारे विधानसभा के मजदूर आंध्र प्रदेश, केरल, गुजरात, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र तमिलनाडु, तेलंगाना सहित अन्य राज्यों में फंसे हैं।

लॉकडाउन के बाद लाने की भी व्यवस्था बनाई जाएगी- बृहस्पत सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से चर्चा हुई है लाकडाउन के बाद अपने क्षेत्र के मजदूरों को लाय जाने की भी व्यवस्था हम लोगों के द्वारा बनाई जाएगी। किसी भी मजदूर को परेशान होने की आवश्यकता नहीं है।
धैर्य एवं संयम के साथ रहे हम आपके साथ हैं- बृहस्पत सिंह ने रामानुजगंज विधानसभा के समस्त मजदूरों से अपील की है कि आप धैर्य एवं संयम के साथ जहां हैं वहां रहे हम आपको हर संभव मदद वही मुहैया कराने की लगातार प्रयास कर रहे हैं।

मोबाइल से बात कर रहे हैं आश्वस्त- बृहस्पत सिंह के द्वारा प्रतिदिन रामानुजगंज विधानसभा के विभिन्न राज्यों में फंसे मजदूरों का लगातार मोबाइल नंबर एकत्रित कर लगातार उन्हें मोबाइल पर फोन कर बात कर हाल-चाल भी लिया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने की प्रशंसा- विधायक बृहस्पत सिंह के द्वारा अपने क्षेत्र के 285 मजदूरों के खाते मैं 285000 रुपए अंतरित किए जाने की प्रशंसा मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने भी की।
00

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *