छत्तीसगढ़

पुलिस अधीक्षक ने अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर नक्सल प्रभावित क्षेत्र के महिलाओं को किया सम्मानित

कवर्धा। सामुदायिक पुलिसिंग के तहत ग्राम अगरी में आयोतित क्रिकेट प्रतियोगिता के समापन अवसर पर अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस कार्यक्रम भी आयोजित किया गया। जिसमें पुलिस अधीक्षक डॉ. लाल उमेंद सिंह भी शामिल हुए। उन्होंने उपस्थित सभी महिलाओं को अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस की बधाई एवं शुभकामनाएं दी। उन्होंने अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर सैकड़ों वनांचल क्षेत्र में कार्य कर रही महिलाओं जिसमें महिला कमांडो, आंगनबाड़ी, मितानिन कार्यकर्ता, महिला कर्मचारी, महिला सरपंच, महिला पंच एवं महिला जनप्रतिनिधि को स्मृति चिन्ह एवं शाल श्रीफल भेंटकर से सम्मानित किया। उन्होंने सभी महिलाओं के प्रति आभार व्यक्त किया कि वनांचल, दूरस्थ क्षेत्रों में अपनी सेवा देते हुए महिला सुरक्षा, महिला सशक्तिकरण व बच्चों की शिक्षा पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। पुलिस अधीक्षक ने महिलाओं से कहा कि उन्हें जो अधिकार प्राप्त है उन्हें सजगता के साथ उपयोग करें। स्कूली विद्यार्थियों को किया शैक्षणिक सामाग्री वितरण
ग्राम अगरी में पुलिस अधीक्षक ने स्कूली विद्यार्थियों को शैक्षणिक सामग्री, कॉपी, पेसिल, स्कूल ड्रेस, वितरण किया। विद्यार्थियों को शैक्षणिक सामग्री, कॉपी, पेसिल, स्कूल ड्रेस, मिलने से चेहरे में मुस्कान आई। विद्यार्थियों के माता-पिता ने एसपी का धन्यवाद भी ज्ञापित किया। पुलिस अधीक्षक ने कक्षा दसवी में 92 प्रतिशत अंक से उर्त्तीण होने वाली कुमारी ममता यादव को भी सम्मानित किया। पुलिस अधीक्षक डॉ. सिंह ने सबोधित करते हुए बताया कि 8 मार्च को अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के रूप में मनाते है। इस वर्ष 109वां अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस है। उन्होंने बताया कि जब महिलाओं को अपने अधिकारों की लड़ाई की बात हुआ करता था यदि हम लोग प्रदेश की बात करें तो आज की स्थिति में महिलाओं की संख्या पुरूषों से ज्यादा हो गई है। अब वो दिन खत्म हो गया जब अगर बेटियां हुआ करती थी तो लोग उसी भ्रुण हत्या किया करते थे वह अब नहीं रहा। उन्होनें बताया कि छत्तीसगढ़ राज्य महिलाओं के हित के लिए एक कदम आगे है क्योकि छत्तीसगढ़ में परिवार का मुखितया महिला होती है एवं महिलाओं के नाम से ही राशन कार्ड बनाया गया है और बच्चों के अंकसूची में माताओं का नाम दर्ज होने लगा है। एसपी ने कार्यक्रम मे उपस्थित महिलाओं को अभिव्यक्ति एप के बारे में भी बताया। उन्होंने महिलाओं को अपने मोबाईल में अभिव्यक्ति एप डाउनलोड करने व उसके सुरक्षा हेतु उपयोग करने
उन्होंने उपस्थित सभी ग्रामवासियों एवं खिलाड़ियों को जानकारी दिया गया कि इस प्रकार का आयोजन जिले के सभी थानों में समय समय पर कराया जा रहा है, जिसका उदेश्य मात्र एक है कि जनता और पुलिस को आपस में जोडे रखना, ताकि हर प्रकार से आम जनो को भयमुक्त, अपराध मुक्त, नशा मुक्त, पुलिस से मधुर संबंध स्थापित कर आम लोगो के बीच सरलता से पहुंचा जा सके और शासन प्रशासन के नियमों कि जानकारी जन जन तक पहुंचाई जा सके। इस दौरान एसपी डॉ. सिंह ने युवाओं को  खेल, मेहनत, सकारात्मक सोच और भविष्य के लिए मेहनत करने के लिए बताया साथ ही एसपी ने कबीरधाम पुलिस द्वारा संचालित फोर्स एकेडमी के बारे में भी बताया।पुलिस अधीक्षक डॉ. लाल उमेद सिंह एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक  मनीषा ठाकुर रावटे के द्वारा लगातार वनांचल गावो, अति नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में खेल का आयोजन एवं जन चौपाल लगाकर शैक्षणिक सामग्री, खेल सामग्री, लोगों की रोजमर्रा की दैनिक उपयोगी सामग्री वितरण किया जा रहा है। पुलिस अधीक्षक द्वारा ग्रामीणों की चौपाल लगाकर उनकी समस्या भी सुनते है और संबंधित विभाग से चर्चा कर निराकरण कराने का हर संभव प्रयास करते है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button