छत्तीसगढ़

शिक्षक एक जौहरी की तरह होता है:- कुसुमलता

राजिम । शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय करेली बड़ी की वार्षिक पत्रिका ‘हमारा अपना परिवार’ का विमोचन गत दिनों हुआ। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि कुसुमलता साहू जिला पंचायत सदस्य धमतरी एवं कार्यक्रम के विशेष अतिथि डीआर साहू विकासखंड शिक्षा अधिकारी मगरलोड एवं सूर्यकांत बैरागी व्याख्याता डाइट नगरी, श्रीराम साहू शाला प्रबंधन एवं विकास समिति ग्राम पंचायत सरपंच डोमार साहू के कर कमलों से ज्ञानदायिनी मां शारदे की पूजन अर्चन कर श्रीगणेश किया गया । तत्पश्चात सुश्री रुक्मणी बंछोर के द्वारा स्वागत भाषण की प्रस्तुति दी गई। बालकवि रेशमा साहू, अनीता राव,दीपिका साहू, कविता निषाद, नम्रता राव, डाली साहू, डोमेश्वरी , ईशा सेन द्वारा स्वरचित कविता का पठन किया गया। जिसे अतिथियों के द्वारा खूब सराहा गया । तत्पश्चात वार्षिक पत्रिका का विमोचन हुआ। व्याख्याता सुशील कुमार साहू के द्वारा पत्रिका के उद्देश्यों एवं प्रभाव पर प्रकाश डाला गया । मंच का संचालन करते हुए शिक्षक एवं शायर जितेंद्र सुकुमार साहिर ने बताया यह पत्रिका वार्षिक साहित्यिक पत्रिका है जिसमें छात्र छात्राओं के द्वारा स्वरचित कविताएं,शिक्षकों के द्वारा विषय आधारित आलेख समाहित हैं जो हर एक वर्ग के पाठकों को अपनी ओर खींच लेगी । इसका प्रकाशन राजधानी की प्रतिष्ठित वैभव प्रकाशन रायपुर से हुआ है। कार्यक्रम की मुख्य अतिथि कुसुमलता साहू ने पत्रिका की सराहना करते हुए कहा शिक्षक जौहरी की तरह होता है जो बच्चों के भीतर छिपी प्रतिभा को बाहर निकाल कर नया आकार देता है अलग अलग- अलग विधाओं में परांगत करता है। विशेष अतिथि विकासखंड शिक्षा अधिकारी मगरलोड डीआर साहू ने विद्यालय के सभी शिक्षक शिक्षिकाओं को बधाई देते हुए कहा कि इस तरह का की पत्रिका अक्सर कॉलेजों में प्रकाशित की जाती है लेकिन यह हमारे जिले के लिए बड़ी खुशी की बात है। कवरपेज बहुत ही आकर्षक है यह पत्रिका शिक्षा विभाग के लिए मील का पत्थर साबित होगी। नगरी डाइट से आये सूर्यकांत बैरागी ने सभा को संबोधित करते हुए कहा अभिव्यक्ति प्रकट करने के बहुत सारे साधन है कविता, कहानी, निबंध एकांकी, आत्मकथा,संस्मरण के द्वारा हम अपने विचारों को व्यक्त कर सकते हैं। लगातार लिखने से व्याकरण की गलतियां धीरे धीरे दूर होकर वाक्य दुरुस्त होने लगता है। इनकम टैक्स ऑफिसर तुमनचंद साहू ने भी अपने विचार बच्चों के बीच रखा। कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे प्राचार्य किशोर कुमार जांगड़े ने अपने उद्बोधन में विद्यालय की तमाम गतिविधियों को सामने रखा उन्होंने आगे बताया कि हर शनिवार को हमारे यहां साहित्यिक गतिविधियां, खेलकूद, संगीत, नृत्य कला योगाभ्यास के साथ-साथ सामान्य ज्ञान के लिए भी कक्षाएं लगाई जाती है जिससे बच्चों का सर्वांगीण विकास हो सके। सभा में संकुल समन्वयक जागेश्वर निषाद, बीमा अभिकर्ता योगेश्वर साहू एवं शाला प्रबंधन एवं विकास समिति के सदस्य चंदूलाल जामरे, भोज साहू,पदुमलाल साहू, प्रहलाद निषाद, यादराम निषाद, उमा निषाद, विवेक चौधरी बहु संख्या में ग्रामीण जन मौजूद थे उपस्थित थे।कंवल राम साहू, शिवशंकर साहू, महेन्द्र साहू, स्टाफ शिक्षक मुकेश कुमार कुर्रे, येकराम साहू, बृजेश देवांगन, यामिनी गायकवाड़, मधु सि़ह, रुकमणी बंछोर, भावना ठाकुर,पुनेश्वर प्रजापति, हर्षल चंद्राकर, अवध राम साहू,दुर्गा सिन्हा, प्रदीप राव नन्नावरे, परमेश्वर सिन्हा का कार्यक्रम को सफल बनाने में विशेष सहयोग रहा। आभार व्यक्त दुर्गा सिन्हा ने किया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button