रायपुर शहर में मकर संक्रांति मनाने का भी अनोखा अंदाज, पतंग बाजार हुआ गुलजार

धर्म-अध्यात्म और पर्व-उत्सव के अलग-अलग रंगों को एकाकार किए रायपुर शहर में मकर संक्रांति मनाने का भी अनोखा अंदाज है। देश में जितनी तरह से संक्रांति मनाई जाती है, सारी परंपराएं रायपुर में देखने को मिलती हैं। गुरुवार सुबह नदी घाटों पर पुण्य स्नान करने लोगों की भीड़ जुटेगी तो दोपहर बाद सतरंगी पतंगों की उड़ान से आसमान भी रंगीन हो जाएगा। ब्राह्मणों और जरूरतमंदों को दान देने का सिलसिला पूरे दिन चलता रहेगा।

kuite

ज्योतिषियों के मुताबिक, सूर्य सुबह 8.13 बजे मकर राशि में प्रवेश करेंगे। इस दौरान गुरु, शनि और चंद्र भी मकर में ही मौजूद रहेंगे। इससे एक ओर जहां चतुर्ग्रही योग का निर्माण हो रहा है, तो दूसरी ओर गजकेसरी और नीच भंग राजयोग बन रहा है। ऐसे संयोग में स्नान-दान करने से 4 गुना अधिक पुण्यफल की प्राप्ति होती है। पुण्यकाल सुबह 8.13 से 12.30 बजे तक रहेगा, वहीं महापुण्यकाल 8.13 से 8.45 बजे तक ही रहेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button