चीन के साथ ऐप और सीमा पर तनाव दोनों एक साथ नहीं चल सकते

भारत ने एक बार फिर चीन एप्स पर बैन कर उसे तगड़ा झटका दिया है, इस बार पहले से ज्यादा बड़ी तादात में चीन कंपनियों के ऐप बैन किए गए हैं. भारत  ने पबजी (PUBG) समेत चीन की 118 ऐप्स पर बुधवार को बैन लगा दिया. खास बात यह है कि इन ऐप्स को यूज करने वालों की संख्या भारत में बेहद ज्यादा थी. खासकर PUBG खेलने वाले इस फैसले के बाद बाद दुखी है.

बताया जा  रहा है कि भारतीय युवाओं को पबजी की इस कदर लत लगी हुई थी कि इस ऐप को 5 करोड़ से ज्यादा बार डाउनलोड किया जा गया था. एक रिपोर्ट के मुताबिक भारत में ही पबजी के तकरीबन 3.3 करोड़ ऐक्टिव यूजर थे.

ऐप बैन से चीनी कंपनियों को तगड़ा झटका

इन ऐप्स के बैन होने से चीनी कंपनियों को बड़ा नुकसान होगा. आपको बता दें कि पबजी को एक साउथ कोरियन कंपनी ने डिवेलप किया था लेकिन इसके सभी वर्जन चीनी कंपनी टेंसेंट जारी करती है.

पहले 50 ऐप किए गए थे बैन

पबजी से पहले चीन को टिकटॉक बैन होने पर सबसे ज्यादा नुकसान हुआ था. दुनिया में टिकटॉक के सबसे ज्यादा यूजर अकेले भारत में ही थे.  जब टिकटॉक पर बैन लगाया गया था तब बताया गया था कि इससे चीनी कंपनियों को 6 अरब डॉलर यानी करीब 45 हजार करोड़ रुपये का बड़ा झटका लगा है.

ऐप बैन से दिया कड़ा संदेश

दरअसल लगातार सीमा पर चीन तनाव बढ़ा रहा है. जिसके पीछे उसका एक मकसद ये भी है कि वह बॉर्डर को शांत रखने की कीमत अपने व्यापार को भारत में फैलाना चाहता है. लेकिन चीन की भारत में बढ़ती घुसपैठ के बीच भारत ने चीन को ऐप्स पर बैन लगा कर साफ मैसेज दिया है कि इन ऐप्स की आड़ में भारतीयों के डेटा को चोरी नहीं होने दिया जाएगा. विदेश मंत्रालय की तरफ से बताया गया है कि भारत की संप्रभुता, अखंडता, सुरक्षा और शांति-व्यवस्था के लिए भारत अब खतरा नहीं उठाएगा और इसी को देखते हुए ऐप्स पर प्रतिबंध लगाया गया है.

corona Update और National News के साथ Chhattisgarh और Madhyapradesh से जुड़ी खबरें पढ़े

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *