Babita Belle suicide case: पैतृक मकान से निकालने भाई-भाभी ने शरीरिक और मानसिक रूप से किया था प्रताड़ित

रायपुर, युवती द्वारा आत्महत्या मामले में पुलिस ने जांच के बाद मृतिका के भाई व भाभी एवं भाई के तीन बच्चों के खिलाफ अपराध कायम कर मामला दर्ज कर लिया है।

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार घरेलू हिंसा से तंग आकर बबीता बेले 31 जुलाई को अपने कमरे में फांसी लगाकर आत्महत्या करने की रिपोर्ट पर पुलिस के जांच में सामने आया कि गुढिय़ारी कुन्दरापारा निवासी बबीता बेले 38 वर्ष पिता स्व.झाडुराम बेले अपने पैतृक मकान में पिता के देहान्त के बाद आधे-आधे हिस्से में भाई का परिवार व मृतिका रहते थे।

मृतिका को घर से निकालने के लिये आये दिन भाई व उसके परिवार के सभी सदस्यों के द्वारा शारीरिक व मानसिंक रुप से प्रताडि़त किया जा रहा था। 30 जुलाई को मृतिक को भाई-भाभी एवं भाई के बच्चों ने एक राय होकर बाल पकड़कर घर से निकाल दिया था। इससे क्षुब्ध होकर मृतिका 31जुलाई को अपने कमरे में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।

ज्ञातव्य हो कि मृतिका द्वारा सन् 2019 मे न्यायालय रायपुर मंजूषा टोप्पो के न्यायालय में आवेदन प्रस्तुत करने पर न्यायालय द्वारा घरेलू हिंसा करने के संबंध मे मनोज बेले को 10 हजार रुपये देने के लिये आदेशित करते हुए पुस्तैनी मकान में रहने आने जाने देने का निर्णय आदेशित किया गया था। उसके बाद भी मृतिका का भाई व भाभी सहित भाई के तीनों बच्चें शारीरिक मानसिक रूप से प्रताडित करते थे। घटना की जांच के बाद मृतिका के भाई मनोज बेले,भाभी श्रीमती सरला बेले एवं शुभम बेले,कु.लीना बेले,कु.यामिनी बेले के खिलाफ धारा 306,34 के तहत अपराध कायम कर मामला दर्ज कर लिया है।
corona Update और National News के साथ Chhattisgarh और Madhyapradesh से जुड़ी खबरें पढ़े

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *