बेंगलुरु : आईएसएल-5: दिल्ली से आज होगा बेंगलुरू का सामना

बेंगलुरू : बेंगलुरू एफसी यहां कांतिरावा स्टेडियम में आज इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) के पांचवें सीजन के एक अहम मुकाबले में दिल्ली डायनामोज की टीम का सामना करेगी। आईएसएल के पिछले सीजन में फाइनल तक का सफर तय करने वाली बेंगलुरू के कप्तान सुनील छेत्री के लिए यह मैच खास है। क्लब के लिए यह उनका 150वां मैच होगा। बेंगलुरू फिलहाल 10 टीमों की तालिका में दूसरे स्थान पर है। दूसरी ओर, दिल्ली की टीम अंतिम स्थान पर है। बेंगलुरू की टीम यह मैच जीतकर पहले स्थान पर पहुंचना चाहेगी तो दिल्ली की टीम भी स्थान परिवर्तन करना चाहेगी। बेंगलुरू एफसी इस सीजन की एकमात्र ऐसी टीम है, जो अब तक अजेय है। इस टीम ने छह मैच खेले हैं। इस टीम ने अपने अंतिम मैच में एफसी गोवा को 2-1 से हराया था और वह भी 10 खिलाडिय़ों के साथ खेलते हुए। उस मैच में डिमास डेल्गाडो को लाल कार्ड मिला था और फलस्वरूप वह दिल्ली के खिलाफ नहीं खेल सकेंगे।

चोट के कारण स्ट्राइकर मीकू और एरिक पाटार्लू गोवा के खिलाफ नहीं खेल सके थे। पाटार्लू ने पैर के अंगूठे की सर्जरी कराई है और वह कुछ अन्य मैचों में भी नहीं खेल सकेंगे। मीकू की वापसी हो सकती है लेकिन सब कुछ उनकी फिटनेस टेस्ट पर निर्भर करेगा।
मीकू अगर फिनेटस टेस्ट में नाकाम होते हैं तो फिर चेंचो गाइलस्टीन को फिर मौका मिलेगा। चेंचो ने गोवा के खिलाफ पदार्पण किया था। वह छेत्री के साथ आक्रमण पंक्ति की कमान सम्भालेंगे। छेत्री इस सीजन में अब तक पांच गोल कर चुके हैं। दूसरी ओर, दिल्ली की टीम की आक्रमण पंक्ति अब तक कमजोर रही है। इस टीम ने आठ मैचों में अब तक सिर्फ सात गोल किए हैं। इस टीम ने कई अच्छे मौके बनाए हैं लेकिन उन्हें गोल में बदलने में नाकाम रही है।

कोच जोसेफ गोम्बाउ को आशा है कि उनके खिलाड़ी अच्छे खासे आराम के बाद मैदान पर जरूरी फुर्ति दिखाएंगे और पहले चरण की नाकामी को भूलकर दूसरे चरण में अच्छा प्रदर्शन करेंगे। प्रीतम कोटाल और नारायन दास को डिफेंस की कमान संभालनी होगी क्योंकि डिफेंस ने अब तक 13 गोल खाए हैं। दिल्ली टीम का संयोजन इस पर निर्भर करेगा कि गोम्बोउ गोलकीपिंग की जिम्मेदारी अल्बीनो गोम्स को देना चाहते हैं या फिर वह फ्रांसिस्को डोरोनसोरो को चुनेंगे।

डेनिएल लालहिम्पुइया बेंगलुरू के खिलाफ अच्छा खेल दिखाना चाहेंगे क्योंकि बीते सीजन में आईएसएल में इस क्लब के लिए उन्हें सिर्फ पांच मिनट मैदान पर बिताने का मौका मिला था। ऐसे में देखने वाली बात यह है कि क्या बेंगलुरू एफसी लीग स्तर पर अपना वर्चस्व जारी रख पाता है और क्या दिल्ली की टीम अब तक की नाकामी को भूलकर इस सीजन की पहली जीत दर्ज करने में सफल हो पाती है?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *