छत्तीसगढ़

भूपेश बताए किसानों के 188 करोड़ कैसे फंसे

रायपुर। छत्तीसगढ़ के नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने रायपुर, महासमुंद, धमतरी, गरियाबंद और बलौदाबाजार जिले के करीब पौने पांच लाख किसानों के हक की लगभग 188 करोड़ की रकम के गोलमाल का मामला सामने आने पर कहा है कि खुद को मुख्यमंत्री से पहले एक किसान बताने वाले मुख्यमंत्री भूपेश बघेल यह बतायें कि उनके सहकारी बैंकों ने बीमा कंपनी से मिलकर किसानों के हक पर यह डाका किसकी सरपरस्ती में डाला है।

भूपेश बघेल हर वक्त किसान को राजनीति का मोहरा बनाते हैं और उनके राज में किसान के साथ कदम कदम पर ठगी हो रही है। अन्याय हो रहा है। अत्याचार हो रहा है। किसान आत्महत्या कर रहे हैं। नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने कहा कि सहकारी बैंकों की इस भर्राशाही की शिकायत राज्य में ऊपर तक हुई लेकिन किसानों को फसल बीमा राशि का भुगतान करने की बजाय यह रकम बीमा कंपनी को वापस कर दी गई। जिसकी शिकायत अब केंद्रीय सहकारिता मंत्री अमित शाह तक पहुंची है। इस मामले में स्पष्ट है कि सहकारी बैंक की करतूतों के पीछे कितना बड़ा हाथ है।

नेता प्रतिपक्ष श्री कौशिक ने कहा कि केंद्रीय सहकारिता मंत्री शाह से उम्मीद है कि वे छत्तीसगढ़ के किसानों के साथ सहकारी बैंकों द्वारा किये जा रहे छलकपट पर त्वरित संज्ञान लेंगे तथा हस्तक्षेप करके छत्तीसगढ़ के किसानों को कांग्रेस की लुटेरी सरकार से बचाएंगे। किसानों के हक का पैसा किसानों को दिलाते हुए भूपेश बघेल के मार्गदर्शन में चल रहे सहकारी बैंकों को सही रास्ता दिखाएंगे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button