चुनावी चौपालछत्तीसगढ़बड़ी खबरेंरायपुर

प्रदेश कांग्रेस प्रभारी की रिपोर्ट को नहीं मान रहे यह भूपेश के यह मंत्री क्या प्रभारी से भी हो गए बड़े ?

छत्तीसगढ़ के प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया ने प्रदेश के विधायकों को लेकर एक परफॉर्मेंस रिपोर्ट तैयार की है। जिसमें विधायकों के कार्यों का पूरा ब्यौरा है। मगर प्रदेश सरकार के एक मंत्री इस रिपोर्ट से इत्तेफाक नहीं रखते। और कह रहे हैं कि उन्हें ऐसी किसी रिपोर्ट की आवश्यकता नहीं है। जी हां, यह मंत्री है भूपेश सरकार में राजस्व अमले की कमान संभाले हुए जयसिंह अग्रवाल

राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल ने प्रदेश कांग्रेस के प्रभारी पीएल पुनिया की विधायकों को लेकर तैयार की गई परफॉर्मेंस रिपोर्ट को लेकर असहमति जताई। उन्होंने साफ तौर पर कहा कि उन्हें ऐसी रिपोर्ट की जरूरत नहीं है। यहां तक कि उन्होनें पीएल पुनिया की रिपोर्ट को लेकर अनभिज्ञता जताई। उन्होनें यह भी कहा कि कैसे बताया गया, क्या बताया गया, दूसरों की रिपोर्ट उनके पास नहीं है। लेकिन हमारे बारे में अगर कोई बात करेगा तो उसकी आवश्यकता भी नहीं है।

अपने इस बयान से मंत्री जयसिंह अग्रवाल ने यह तो साफ कर दिया है कि वह शायद आत्ममुग्ध हो चुके हैं मगर उनकी आत्मामुग्धता क्या आने वाले चुनाव में उनके लिए सकारात्मक परिणाम लाएगी? लेकिन उससे पहले जब पार्टी अगली बार टिकट बंटवारे को लेकर मंथन करेगी तो उनका यह रवैया जरूर ध्यान में रखा जाएगा क्योंकि पीएल पुनिया की नियुक्ति राष्ट्रीय कांग्रेस की तरफ से हुई है और 2018 के विधानसभा चुनाव में भी वह पर्यवेक्षक के तौर पर छत्तीसगढ़ आते रहे हैं और सरकार गठन के बाद से अब तक छत्तीसगढ़ में अनेकों दौरे भी कर चुके हैं जो अब भी जारी हैं। ऐसे में उनके द्वारा तैयार की गई परफारमेंस रिपोर्ट को अस्वीकार करना कहीं ना कहीं आलाकमान की रिपोर्ट को अस्वीकार करने जैसा ही है। पीएल पुनिया यहां की जमीनी हकीकत से वाकिफ है । बहरहाल अब देखना होगा कि पार्टी का क्या रुख मंत्री जयसिंह अग्रवाल के इस रवैया पर होता है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button