छत्तीसगढ़

गोधन न्याय योजना के तहत अब गौठानों में खरीदा जाएगा गौमूत्र

धमतरी। प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की महती गोधन न्याय योजना के तहत गौठानां में गोबर के साथ अब गौमूत्र की खरीदी भी की जाएगी। प्रदेश सहित जिले के धमतरी विकासखण्ड के भटगांव और सारंगपुरी में ’हरेली’ त्यौहार 28 जुलाई से इसकी शुरूआत की जा रही है। उप संचालक पशु चिकित्सा सेवाएं डॉ. एम. एस. बघेल से मिली जानकारी के मुताबिक भटगांव गौठान में सुबह 10 बजे से आयोजित गौमूत्र खरीदी कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि जिला पंचायत उपाध्यक्ष नीशु चन्द्राकर शिरकत करेंगे। कार्यक्रम की अध्यक्षता कृषि स्थायी समिति की सभापति तारिणी चन्द्राकर द्वारा की जाएगी। विशिष्ट अतिथि के तौर पर वन सभापति कविता बाबर, जनपद पंचायत धमतरी के उपाध्यक्ष अवनेन्द्र कुमार साहू, सदस्य सुरेश कुमार मरकाम सहित संबंधित सरपंच उपस्थित रहेंगे। डॉ.बघेल ने बताया कि गौमूत्र खरीदी के संबंध में गौठान समिति और स्व सहायता समूह को प्राथमिक प्रशिक्षण दिया जा चुका है।

बताया गया है कि गौमूत्र की खरीदी लीटर की गुणांक में किया जाएगा। पशुपालकों से वैज्ञानिक तकनीक द्वारा संग्रहित गौमूत्र गुणवत्ता परीक्षण के बाद ही खरीदा जाएगा। उन्होंने बताया कि संग्रहित गौमूत्र का पी.एच.लगभग 7.5-9 होता है। संग्रहित गौमूत्र में 7.5 पी.एच. से अधिक का खरीदा जा सकता है, जिसकी जांच डिजिटल पी.एच. से किया जाएगा। स्वस्थ गौवंश का गौमूत्र का स्पेसिफिक ग्रेविटी 1.004 से 1.015 होती है। इसके मद्देनजर कम से कम 1.004 स्पेसिफिक ग्रेविटी तक गौमूत्र खरीदा जा सकता है, जिसकी जांच न्यूरोमीटर द्वारा किया जाएगा। साफ तौर पर बताया गया है कि संक्रामक रोग से ग्रसित पशुओं का गौमूत्र खरीदा नहीं जाएगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button