Parliament monsoon session: कोरोना संक्रमण से बचने के लिए उठाया गया ये बड़ा कदम

Parliament monsoon session: देश में फैली कोरोना वायरस की महामारी के बीच अब देश की संसद जल्द ही शुरू होने वाली है. ऐसे में एहतियातन कई कदम उठाए जा रहे हैं. इस बार लोकसभा सचिवालय (Lok Sabha Secretariat) ने सोमवार को कहा है कि संसद के आगामी मानसून सत्र (monsoon session) के दौरान सांसदों को अध्यादेशों की कोई कागजी प्रति वितरित नहीं की जाएगी।

अब कागजी प्रति की जगह सभी को डिजिटल प्रति उपलब्ध कराई जाएगी। आपको बता दें कि इस बार होने वाले संसद के मानसून सत्र में सरकार द्वारा लागू किए गए कई अध्यादेशों पर मुहर लगने की उम्मीद है।

कागजी प्रतियों से संक्रमण का ज्यादा खतरा

इस मामले में लोक सभा सचिवालय ने बयान जारी कर कहा कि सभी सदस्य को सूचित किया जाता है कि कोविड-19 महामारी की मौजूदा स्थिति के मद्देनजर और संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए यह निर्णय लिया गया है कि लोकसभा के चौथे सत्र से आध्यादेशों की कागजी प्रति वितरित नहीं की जाएगी क्योंकि इससे संक्रमण फैल सकता है।

फिलहाल सत्र की तारीख तय नहीं 

आपको बता दें कि फिलहाल मानसून सत्र कब होगा इसकी तारीख तय नहीं हैं. लेकिन मानसून सत्र को 23 सितंबर से पहले शुरू कराना जरूरी है । सत्र के दौरान सभी सदस्यों को डिजिटल प्रति का वितरण किया जाएगा ।

corona Update और National News के साथ Chhattisgarh और Madhyapradesh से जुड़ी खबरें पढ़े

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *