टीएमसी सांसद ने उप-सभापति का माइक तोड़ा-कागज उछाले

नईदिल्ली,  राज्यसभा में कृषि बिल 2020 चर्चा के दौरान आज जमकर हंगामा हुआ। हंगामा इतना बढ़ गया कि विपक्षी पार्टियों के नेता वेल पर आकर जोरदार नारेबाजी की और उप-सभापति के पास कागज के टुकड़े उछाले। इस दौरान उप-सभापति के पास मौजूद मार्शलों ने उनको रोका तो हल्की झड़प हो गई।

झड़प के दौरान ही उपसभापति के सामने वाला माइक भी टूट गया। टीएमसी सांसद डेरेक ओ ब्रायन ने उपसभापति के सामने रूल बुक फाड़ दी। डेरेक ओ ब्रायन और तृणमूल कांग्रेस के बाकी सांसदों ने आसन के पास जाकर रूल बुक दिखाने की कोशिश की और उसको फाड़ा। इसके बाद राज्यसभा की कार्यवाही को स्थगित कर दिया गया है।

ये खबर भी पढ़ें – नईदिल्ली : राज्य सभा के सभापति वेंकैया नायडू ने सुको के चीफ जस्टिस के खिलाफ महाभियोग प्रस्ताव अस्वीकार किया

कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर के जवाब से असंतुष्ट कांग्रेस और आम आदमी पार्टी के सांसद वेल में पहुंच गए। कांग्रेस सांसद गुलाम नबी आजाद ने कहा राज्यसभा का समय ना बढ़ाएं, मंत्री का जवाब कल हो, क्योंकि अधिकतर लोग यही चाहते हैं। इस बीच, सदन में हंगामा कर रहे सांसदों ने आसन के सामने लगे माइक को तोड़ दिया।

राज्यसभा में कृषि बिल पर कांग्रेस के सांसद अहमद पटेल ने कहा कि भाजपा के अध्यक्ष ने हमारे घोषणापत्र का अध्ययन किया और अपने बिल की तुलना करने के लिए इसमें से कुछ बिंदुओं को सामने लाएं। हमारा घोषणा पत्र एक घोड़ा है और उन्होंने इसकी तुलना गधे से करने की कोशिश की है।

कृषि मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने रविवार को कहा कि सरकार किसानों के जीवन में क्रांतिकारी बदलाव लाना चाहती है और उन्हें फसलों की बुआई के समय ही उसकी उचित कीमत का आश्वासन दिलाने का प्रयास कर रही है।

तोमर ने राज्यसभा में कृषक उपज व्यापार और वाणिज्य (संवर्धन और सरलीकरण) विधेयक 2020 तथा कृषक (सशक्तिकरण और संरक्षण) कीमत आश्वासन और कृषि सेवा करार विधेयक 2020 पेश करते हुए कहा कि दोनों विधेयक ऐतिहासिक है जिन्हें लोकसभा पारित कर चुकी है। कृषि मंत्री के विधेयक पेश करने के पूर्व मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी के के. के. रागेश और छह अन्य सदस्यों ने इन विधेयकों से संबंधित अध्यादेशों को निरस्त करने के संकल्प पेश किया ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *