छत्तीसगढ़बड़ी खबरेंरायपुर

क्या कांग्रेस अकलतरा विधानसभा का किला भेद पाएगी आने वाले चुनाव में

नमस्कार दोस्तों एक बार फिर आपको फोर्थ आई न्यूज में स्वागत है, हमारी विधानसभा के विश्लेषण की सीरीज में लगातार हमें आपके कमेंट मिल रहा हैं, और हम जल्द से जल्द कोशिश कर रहे हैं, कि आपकी लगातार मिल रही डिमांट को पूरा कर सके, साथ ही हमें भी आपसे उम्मीद है कि आपके विधानसभा की सटीक जानकारी देने के लिए आम कमेंट बॉक्स के माध्यम से हमारे साथ जुड़े रहेंगे ।
वैसे आज हमारी इस स्पेशल रिपोर्ट में हम बात कर रहे हैं इस विधानसभा सीट की जहां भारतीय जनता पार्टी जीत के लिए तरस रही थी, यहां कभी कांग्रेस तो कभी बसपा जीत का परचम लहरा रही थी, और किसी ने भी नहीं सोचा था कि साल 2018 की विषम परिस्थियों में ये सीट भाजपा के खाते में आ जाएगी, वो भी तब जब अजीत जोगी की बहू, रिचा जोगी खुद यहां से विधायकी की ताल ठोक रही हों । हालांकि इन सबके बावजूद भी इसी सीट पर सौरभ सिंह ने भाजपा की जीत का परचम लहरा दिया। इस सीट की एक और खास बात है कि साल 2013 को छोड़ दिया जाए, तो यहां प्रत्याशियों के बीच जीत हार का अंतर एक हजार से 3000 हजार के बीच ही होता है ।
तो चलिये शुरूआत हम साल 2003 से ही करते हैं, साल 2003 में अकालतरा विधान सभा क्षेत्र में कुल 164259 मतदाता थे। कुल वैध मतों की संख्या 117828 थी। इस सीट से भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के उम्मीदवार रामाधार जीते और विधायक बने। उन्हें कुल 37368 वोट मिले। भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार छताराम कुल 35938 मतों के साथ दूसरे स्थान पर रहे। वह 1430 वोटों से हार गए।

2008 में अकालतरा विधान सभा क्षेत्र में कुल 164988 मतदाता थे। कुल वैध मतों की संख्या 112926 रही। इस सीट से बहुजन समाज पार्टी के उम्मीदवार सौरभ सिंह जीते और विधायक बने। उन्हें कुल 37393 वोट मिले। भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के उम्मीदवार चुन्नीलाल साहू कुल 34505 मतों के साथ दूसरे स्थान पर रहे। वह 2888 मतों से हार गए।

2013 में अकालतरा विधान सभा क्षेत्र में कुल 183279 मतदाता थे। कुल वैध मतों की संख्या 140387 थी। भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के उम्मीदवार चुन्नीलाल साहू जीते और इस सीट से विधायक बने। उन्हें कुल 69355 वोट मिले। भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार दिनेश सिंह कुल 47662 मतों के साथ दूसरे स्थान पर रहे। वह 21693 वोटों से हार गए।
2018 में अकालतरा विधानसभा क्षेत्र में कुल 203052 मतदाता थे। कुल वैध मतों की संख्या 155496 थी। इस सीट से भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार सौरभ सिंह जीते और विधायक बने। उन्हें कुल 60502 वोट मिले। बहुजन समाज पार्टी की उम्मीदवार ऋचा जोगी कुल 58648 मतों के साथ दूसरे स्थान पर रहीं। वह 1854 मतों से हार गईं। जबकि इस सीट पर कांग्रेस तीसरे नंबर पर चली गई और कांग्रेस के उम्मीदवार चुन्नीलाल साहू को महज 27667 वोटों से ही संतोष करना पड़ा ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button