छत्तीसगढ़रायपुर

विधानसभा : महिलाओं के खिलाफ बढ़ते अपराध का मामला सदन में उठा

रायपुर

  • विधानसभा में मंगलवार को महिलाओं के खिलाफ बढ़ते अपराध का मामला उठा.
  • बीजेपी विधायक ने ध्यानाकर्षण के जरिये महिलाओं के खिलाफ हो रहे अपराध का हवाला दिया.
  • जबाव में गृहमंत्री ने महिलाओं के खिलाफ में अपराध में कमी आने की बात कही.
  • पी विधायक शिवरतन शर्मा ने कहा कि जनवरी 2019 में कोपलवाणी में एक छात्रा का मानसिक शोषण किया गया.
  • दुष्कर्म की घटना भी सामने आई थी. राज्य सरकार ने चुनावी घोषणा पत्र में महिला सुरक्षा को एक मुद्दा बनाया था.
  • लेकिन घटनाएं बढ़ी है. नया रायपुर में एक युवती के साथ सामूहिक अनाचार किया गया. क्राइम ब्रांच बन्द कर दिया गया है.
  • अपराध अनुसंधान चरमरा गया है. महिलाओं की इज्जत के साथ बदमाश बेखौफ खिलवाड़ कर रहे हैं.

कोपलवाणी में लड़की से दुष्कर्म का मामला

  • गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू ने कहा कि जनवरी 2019 में कोटा के कोपलवाणी में मंदबुद्धि लड़की का दुष्कर्म किया गया.
  • संस्था में पदस्त डॉक्टर आरोपी अजय साहू ने दुष्कर्म किया था.
  • परिजनों की शिकायतों के बाद एफआईआर दर्ज किया गया है.
  • प्रकरण न्यायालय में विचाराधीन है. नया रायपुर में दुष्कर्म पीड़ित युवती ने मोटरसाइकिल सवार युवक से लिफ्ट लिया था. युवक ने उसे उसके गंतव्य तक ले जाने की बजाय सुनसान जगह ले जाकर दुष्कर्म किया था.
  • इस मामले में भूपेंद्र वर्मा को 4 फरवरी को गिरफ्तार किया गया था.
  • प्रकरण विचाराधीन है. महिलाओं की सुरक्षा के लिए सरकार गंभीर है. महिलाओं संबंधी अपराध में कमी आई है.

महिलाओं से जुड़े अपराध में  7 फीसदी कमी

  • गृहमंत्री ने कहा कि प्रदेश में पिछली सरकार में 17 दिसम्बर से 4 फरवरी के दौरान कुल 488 प्रकरण दर्ज किये गए थे.
  • जबकि इसी अवधि में मौजूदा सरकार में 17 दिसम्बर से 4 फरवरी से कुल 453 अपराध दर्ज किये गए है.
  • करीब 7 फीसदी की कमी आई है.
  • जन घोषणा पत्र में हर थाना में महिला डेस्क खोले जाने की दिशा में कार्यवाही जारी है.
  • इसे लेकर सरकार ने प्रयास शुरू कर दिया है. शिवरतन शर्मा ने पूछा-किन-किन थानों में महिला डेस्क काम कर रहा है? जवाब में मंत्री ताम्रध्वज साहू ने कहा- इसकी मैं जानकारी अलग से दे दूंगा.

आरोपी की गिरफ्तार से दंडाधिकारी जांच नहीं

  • बीजेपी विधायक अजय चन्द्राकर ने कहा- कोपलवाणी संस्था के साथ महिला के जो अनाचार हुआ है? इसे लेकर क्या दंडाधिकारी जांच के आदेश दिए गए हैं? गृहमंत्री ने कहा कि चूंकि आरोपी गिरफ्तार किया जा चुका था इसलिए दंडाधिकारी जांच के आदेश नहीं दिए गए. जांच अधिकारी को हटाए जाने के विपक्ष के सवाल पर गृहमंत्री ने कहा- यह रूटीन तबादला है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button