छत्तीसगढ़बिलासपुर

बिलासपुर : जलसंसाधन विभाग के उपअभियंताओं और सहायक अभियंताओं का चार दिवसीय प्रशिक्षण आज से शुरू

बिलासपुर : जलसंसाधन विभाग द्वारा आज यहां खारंग परिसर की प्रार्थना सभाकक्ष में जलाशय एनीकट/ स्टापडेम/व्यपवर्तन योजनाओं एवं नहर प्रणाली का सर्वेक्षण, गे्रडिंग एवं अभिकल्पीत सिंचाई क्षमता प्राप्ति के लिए कार्ययोजना क्रियांन्वयन के संबंध में उप अभियंताओं, सहायक अभियंता एवं कार्यपालन अभियंता का चार दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम का शुभारंभ संभागीय कमिश्नर टी.सी. महावर की अध्यक्षता में किया गया।

जलसंसाधन विभाग द्वारा आज यहां खारंग परिसर की प्रार्थना

प्रशिक्षण कार्यक्रम के शुभारंभ अवसर पर कलेक्टर पी. दयानंद भी उपस्थित थे। प्रशिक्षण कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कमिश्नर महावर ने कहा कि सिंचाई योजनाओं का पूर्ण क्षमता के साथ समुचित क्रियांन्वयन के लिए प्रदेश भर में एक समयबद्ध अभियान चलाया जाकर इन निर्मित योजनाओं का सर्वेक्षण कर कारणों का आंकलन करते हुए उनके पुर्नस्थापन एवं अभिकल्पित सिंचाई क्षमता की प्राप्ति के लिए एक व्यापक कार्ययोजना तैयार किया जाना होगा।

पुर्नस्थापन एवं अभिकल्पित सिंचाई क्षमता की प्राप्ति के लिए एक व्यापक कार्ययोजना तैयार किया जाना होगा

उन्होंने कहा कि सिंचाई क्षमता में वृद्धि से ही इस अभियान को सफलता मिलेगी। उन्होंने मुख्य कार्यपालन अभियंता और कार्यपालन अभियंताओं को सिंचाई क्षमता की कार्ययोजना तैयार करने के साथ-साथ योजनाओं को पूर्ण करने के लिए सतत मानिटरिंग करने के सुझाव दिये। उन्होंने कहा कि जलाशय, स्टापडेम, एनिकट के निर्माण के साथ-साथ इनमें जल भराव पर्याप्त हो, इसका विशेष ध्यान रखना होगा। महावर ने जल संरक्षण के साथ-साथ वृक्षारोपण के लिए भी कार्ययोजना तैयार करने के सुझाव भी दिये।

प्रशिक्षण कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कलेक्टर पी. दयानंद ने कहा कि प्रशिक्षण कार्यक्रम में उपअभियंताओं/सहायक अभियंताओं को बहूतक  से संबंधित प्रशिक्षण दिया जा रहा है। प्रत्येक उपअभियंता द्वारा चार से पांच सरंचनाओं का सर्वेक्षण किया जाना होगा। जिसमें एनिकट, स्टापडेम, जलाशय, व्यपवर्तन आदि संरचनाएं होंगी। इन चिंहित संरचना का स्थल पर फोटो लेकर तथा एप में अपलोड करना होगा।

प्रशिक्षण कार्यक्रम के प्रथम दिन आज मास्टर ट्रेनर्स मधुकुमार चंद्रा, अरविंद कोसले, वसुंधरा ठाकुर और संजय शर्मा ने खारंग संभाग बिलासपुर, जलप्रबंधन संभाग जांजगीर, बैराज संभाग चांपा, जलप्रबंधन संभाग कोरबा और बांध संभाग माचाडोली के उपअभियंता, सहायक अभियंता तथा कार्यपालन अभियंताओं को सभी पांच संरचनाओं के सर्वेक्षण योजनाओं की ग्रेडिंग योजनाओं के क्रियांन्वयन एवं कार्यो की मानिटरिंग के संबंध में विस्तार से जानकारी दी। इस अवसर पर मुख्य अभियंता हसदेव बांगो परियोजना बिलासपुर आर.एन. दिव्य, अधीक्षण अभियंता के.एस. गुरूवर, अधीक्षण अभियंता एल. एस. चंद्राकर, कार्यपालन अभियंता सर्व आर. पी. साव एवं ए. के. ललित उपस्थित थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button