MS Dhoni के सन्यास पर बोले Ashish nehra, मैं पहले ही जानता था…

नईदिल्ली, टीम इंडिया (Team india) में एक वक्त जिस एमएस धोनी (MS Dhoni) की तूती न सिर्फ बल्ले से बोलती थी बल्कि कप्तानी में भी जिसने अपनी छाप छोड़ी, वो आज सन्यास ले चुके हैं, उनके सन्यास पर पूर्व तेज गेंदबाज आशीष नेहरा (Ashish nehra) ने धोनी की खूबियों को याद किया है। नेहरा धौनी (MS Dhoni) के साथ और उनकी कप्तानी में खूब खेले हैं।

वह 2011 विश्व कप विजेता टीम का भी हिस्सा रहे और आइपीएल में चेन्नई सुपर किंग्स के साथ भी धोनी (MS Dhoni)की कप्तानी में खेले। नेहरा (Ashish nehra)ने शांत स्वभाव वाले इस खिलाड़ी की खूबियों की जमकर तारीफ की।

नेहरा (Ashish nehra) ने बताया, “मैंने धोनी (MS Dhoni) को पहली बार 2004 की सर्दियों की शुरुआत में देखा था, यह पाकिस्तान दौरे पर जाने से पहले का मौका था। इस दौरे से पहले यह वह पहला मैच था, जिसमें मैंने पहली बार धौनी (MS Dhoni) को गेंदबाजी की थी और मुझे यह तो याद नहीं कि उन्होंने कितने रन बनाए थे, लेकिन जब एक बार आप भारत के लिए खेल लेते हो तो आपको यह आइडिया हो जाता है कि कौन सा खिलाड़ी अंतरराष्ट्रीय स्तर पर खेल सकता है।

पूर्व दिग्गज तेज गेंदबाज ने बताया, “मैंने धोनी (MS Dhoni) में जो देखा उससे मुझे अहसास हो गया था कि वह लंबा जाने वाला खिलाड़ी है। उस दौरान मैं लगातार 140 किमी प्रति घंटा की गति से गेंदबाजी कर रहा था और उनका एक मिस हिट भी थर्ड मैन के ऊपर से छक्के के लिए गया। उनकी यह अद्भुत ताकत देखकर मैं हैरान था।” हालांकि, नेहरा (Ashish nehra) ने ये भी स्वीकार किया है कि उनकी विकेटकीपिंग की क्षमता उस समय ऐसी नहीं थी।

नेहरा (Ashish nehra) ने कहा है, “अगर आप मुझसे उनकी विकेटकीपिंग के बारे में पूछोगे तो वह निश्चित रूप से सैयद किरमानी, नयन मोंगिया के स्तर के नहीं थे, लेकिन किरण मोरे ने फिर भी उनका समर्थन किया, लेकिन समय के साथ-साथ वह बेहतर होते चले गए। उनकी क्रिकेटिंग तकनीक के चलते वह गिल्लियां बिखेरने में सबसे तेज हाथ चलाने वाले खिलाड़ी बन गए।

corona Update और National News के साथ Chhattisgarh और Madhyapradesh से जुड़ी खबरें पढ़े

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *