रायपुर : विधानसभा घेरने निकले कोटवारों को पुलिस ने रोका

रायपुर : नियमितीकरण और वेतन बढ़ाने की मांग लेकर विधानसभा को घेराव करने निकले कोटवारों को पुलिस ने लोधीपारा चौक पंडरी के पास रोक लिया। कोटवारों ने चौक पर लगे बेरीकेट्स को लांघने की कोशिश की जिसके चलते कोटवारों और पुलिस के बीच झूमाझटकी भी हुई। प्रदर्शन के दौरान कई कर्मचारी संघों ने भी कोटवारों का साथ दिया।

सोमवार को सुबह प्रदेश भर के कोटवार बूढ़ापारा धरना स्थल पर एकत्रित हुए जहां उन्होंने एक बड़ी सभा का आयोजना किया और उसके बाद विधानसभा का घेराव करने रैली के रूप में निकल गए। पूर्व आयोजित प्रदर्शन के चलते प्रशासन की ओर से प्रदर्शनकारियों को रोकने के लिए पंडरी लोधीपारा चौक के पास पुख्ता इंतजाम किये गए थे।

पुलिस ने बेरिकेट्स लगाकर कोटवारों रोकने का प्रयास किया किंतु भारी संख्सा में मौजूद कोटवारों ने बेरिकेट्स लांघने का प्रयास किया जिसके चलते पुलिस कर्मियों एवं कोटवारों के बीच झूमाझटकी की स्थिति निर्मित हो गई।

यहां भी क्लिक करें – https://www.youtube.com/watch?v=9nOeqxqXJfk&t=129s

ज्ञात हो कि प्रदेशभर के लगभग16 हजार कोटवारों को अधिकतम तीन हजार रुपए मानदेय दिया जा रहा है जिसमें उनकों परिवार चलाना मुश्किल हो रहा है। इसी के चलते कोटवारों ने मांग की है कि जल्द से जल्द उन्हें शासकीय कर्मचारी घोषित कर दिया जाए। उनका कहना है कि वे पिछले कई सालों से अपना काम कर रहे हैं।

वे सरकारी योजनाओं की जानकारी से लेकर समय-समय पर सरकार कार्यक्रमों के क्रियान्वयन कराने में अहम भूमिका निभाते हैं। इसके बावजूद भी कोटवार तंगहाल जिंदगी जीने विवश हैं। सुविधाओं के नाम पर सरकार उन्हें कुछ नहीं दे रही है। इसके बावजूद पूरी ईमानदारी से काम कर रहे हैं। अब वे सरकार से अपना हक मांगने का ऐलान कर दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *