रायपुर

रायपुर: सीएम के प्रमुख सचिव की पत्नी को संविदा में मिलती थी एक लाख रुपए सैलेरी ?

रायपुर. छत्तीसगढ़ की रमन सिंह सरकार में मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव रहे अमन सिंह की मुश्किलें बढ़ सकती हैं,  क्योंकि उनकी पत्नी यास्मीन सिंह के खिलाफ शिकायत के बाद शुक्रवार को सामान्य प्रशासन विभाग ने जांच के आदेश दे दिए हैं। तीन माह में जांच पूरी कर इसकी रिपोर्ट मांगी गई है। विभाग की सचिव रीता शांडिल्य की ओर से जारी आदेश में जांच की जिम्मेदारी तकनीकि शिक्षा एवं रोजगार विभाग की प्रमुख सचिव रेणु जी. पिल्ले को सौंपी गई है।

ये खबर भी पढ़ें – चिटफंड पर राजनीतिक चीटिंग कर रहे हैं, विज्ञापन देकर वाहवाही न लूटे CM भूपेश – भाजपा

सोशल मीडिया पर प्रसिद्ध नृत्यांगना हैं यास्मीन सिंह

सामान्य प्रशासन विभाग में की गई शिकायत में यास्मीन सिंह पर आरोप लगाया गया है कि इंटरनेट पर उपलब्ध उनकी प्रोफाइल में देश की प्रसिद्ध कत्थक नृत्यांगना बताया गया है। वहीं देश भर में उनके कई कार्यक्रम हुए और ये पूर्णकालिक नृत्यांगना हैं। इनके शासकीय कार्यों से संबंधित कोई जानकारी नहीं दी गई है। साथ ही कहा गया है कि यास्मीन सिंह को बिना किसी योग्यता के सिर्फ अमन सिंह की पत्नी होने के चलते विभाग में संविदा पर चयनित किया गया।

35 हजार से बढ़कर एक लाख हुआ वेतन

शिकायत में यह भी आरोप लगाया गया है कि नियुक्ति के समय यास्मीन सिंह का वेतन 35 हजार रुपए था। जो कि गुपचुप तरीके से बढ़ाकर एक लाख रुपए तक कर दिया गया। संविदा अधिकारी के रूप में कार्यरत होने के बावजूद पूर्ववर्ती रमन सिंह सरकार में उनको नृत्यांगना के रूप में ही प्रचारित किया गया। जब छत्तीसगढ़ के वरिष्ठ कलाकारों को कोई काम नहीं मिल रहा था, तब यास्मीन सिंह को सरकार के विभिन्न विभागों की ओर से अत्याधिक मानदेय (डेढ़ से दो लाख रुपए) पर आमंत्रित किया गया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button