छत्तीसगढ़

पूंजीपतियों के फायदे के लिए बने 4 लेबर कोड को हम छत्तीसगढ़ में लागू नहीं होने देंगे

शहीद शंकर गुहा नियोगी के शहादत दिवस एवं शहीदे आजम भगत सिंह के जन्मदिवस पर छत्तीसगढ़ मुक्ति मोर्चा मजदूर कार्यसमिति द्वारा आज इंडियन कॉफी हाऊस सुपेला में एक पत्रवार्ता का आयोजन किया गया। पत्रवार्ता का मुख्य बिंदू चार लेबर कोड को छत्तीसगढ़ में लागू होने नहीं देंगे विषय पर काफी देर तक समिति के पदाधिकारियों व पत्रकारों के बीच वार्ता हुई। समिति के पदाधिकारी जयप्रकाश नायर ने चर्चा के दौरान पत्रकारों से कहा कि नियोगी जी के समय से जो आंदोलन मजदूर वर्गो के लिए चलाया गया था वह अभी वर्तमान में भी उन्ही के मार्गदर्शन व आदर्शों को एक पथ मानकर चलाया जा रहा है। नियोगी जी की जो मंशा थी कि सभी श्रमिक वर्गों को एक समान वेतन, व सम्मान प्राप्त हो उस पर अब तक छत्तीसगढ़ मुक्ति मोर्चो मजदूर कार्यसमिति द्वारा निरंतर ही प्रयास किया जा रहा है और आगे भी यह जारी रहेगा। पूंजीपतियों के फायदे के लिए बने 4 लेबर कोड को हम छत्तीसगढ़ में लागू नहीं होने देंगे।
उन्होंने कहा कि 28 सितंबर को हम सभी श्रमिक वर्ग के पदाधिकरी हुड़को दशहरा मैदान में सुबह 10 बजे सभी एकत्रित होकर वहां से दोपहर 1 बजे गांधी पुतला दुर्ग के लिए रैली प्रस्थान करेंगी तथा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी व भारत के राष्ट्रपति के नाम हम समितियों द्वारा 4 लेबर कोड के संबंध में कलेक्टर दुर्ग को ज्ञापन सौंपेगे।
श्री नायर ने कहा कि सफाई कर्मचारियों के रुप में कार्यरत श्रमिक वर्ग ने अपने लिए नगरीय निकायों में नियमित काम, रहने की कॉलौनियां, बच्चों के वजीफे अािद बहुत से अधिकार प्राप्त किए थे, चूङ्क्षक उनका आर्थिक शोषण हीं नहीं उनके साथ निरंतर सामाजिक भेदभाव भी होता था, अपने लिए राष्ट्रीय स्तर पर उन्होंने कमीशन गठित करवाया था पर छत्तीसगढ़ की पिछली भाजपा सरकार ने सफाई कर्मियों को डाईंग कैडर घोषित कर सारे नियमित पोस्ट छीन कर उन्हें न केवल ठेका श्रमिक बना दिया, बल्कि आज उन्हें समय पर वेतन , ईएसआई और पीएफ से भी वंचित रखा गया है।
आगे उन्होंने कहा कि बीएसपी के टुकड़ो-टुकड़ो में निजीकरण पर रोक लगाओ और दूसरी ओर भिलाई के नाम पर आदिवासियों के ग्राम सभाओं को रौंदकर रावघाट परियोजना बुल्डोज करना बंद करो। बीएसपी का टुकड़ो-टुकड़ो में निजीकरण किया जा रहा है। स्थायी मजदूरों की संख्या साल दर साल घटजी जा रही है। वहीं ठेकेदारी मजदूरों की संख्या में इजाफा हो रहा है। जो उनके एक तिहाई वेतन में सबसे खतरनाक कामों में आए दिन दुघर्टना ग्रस्त हो रहे है।
अंत में श्री नायर ने कहा कि यह कॉमरेड शंकर गुहा नियोगी के शहादत की धरती है, बिना मजदूर संगठनों से चर्चा किए, आप उल्टी गंगा बहाने वाले , मजदूरों के संघर्ष का मजाक उड़ाने वाले इन 4 लेबर कोडो को लागू नहीं कर सकते, इसके लिए हम सभी मजदूर संगठन इस 4 लेबर कोडो के खिलाफ एकजूट होकर लड़ेगे।
प्रेसवार्ता में कार्यसमिति के पदाधिकारियों में जयप्रकाश नायर , मनोज कोसरे, सुमित परगनिहा, पुष्पा, नीरा, मोतन, विष्णु पवार, धनुष साहू, रमाकांत बंजारे, महेश साहू, चंद्रशेखर बंजारे, कलादास डेहरिया आदि समिति के पदाधिकारी उपस्थित थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button