Is of doing business 2020 में पहले पायदान पर बरकरार आंध्र प्रदेश

नई दिल्ली,  केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण और वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने शनिवार को राज्य व्यापार रिफॉर्म एक्शन प्लान 2019 रैंकिंग यानी ईज ऑफ डूइंग (Is of doing business)में राज्यों की रैंकिंग जारी की। भारत में कारोबारी माहौल को और बेहतर बनाने की दिशा में, बिजनेस सुधार के कार्यों की योजना को लागू करने के आधार पर राज्यों की रैंकिंग जारी की गई। इस दौरान केंद्रीय उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी भी शामिल रहे।

राज्यों की ईज ऑफ डूइंग बिजनेस (Is of doing business) रैंकिंग में टॉप पर आंध्र प्रदेश है। आखिरी बार यह रैंकिंग जुलाई 2018 में जारी की गई थी। तब भी शीर्ष पर आंध्र प्रदेश था। वहीं दूसरे स्थान पर उत्तर प्रदेश और तीसरे पर तेलंगाना है। इससे पहले 2018 में दूसरे और तीसरे स्थान पर क्रमश: तेलंगाना और हरियाणा थे।

भारत में कारोबार करने में आसानी के मामले में पिछली बार जारी की गई ‘ईज ऑफ डूइंग (Is of doing business) रैंकिंग में इस बार शीर्ष दस राज्यों में शामिल तीन स्थान की छलांग के बाद मध्य प्रदेश चौथे तो झारखंड पांचवें और छत्तीसगढ़ छठें पायदान पर है, जो पिछली बार भी इसी जगह था।

जबकि हिमाचल प्रदेश 16वें स्थान से छलांग लगाकर सातवें, राजस्थान 8वें, पश्चिम बंगाल नौंवे और गुजरात ईज ऑफ डूइंग बिजनेस (Is of doing business) के मामले में 10वें पायदान पर है। यदि उत्तर भारत की बात करें तो एक तरह से उत्तर प्रदेश का सबसे अच्छा प्रदर्शन रहा है। जबकि पूर्वी भारत में झारखंड के प्रदर्शन बेहतर रहा है।

मध्य भारत में मध्य प्रदेश, दक्षिण भारत में आंध्र प्रदेश और पूर्वोत्तर में असम का प्रदर्शन ईज ऑफ डूइंग बिजनेस (Is of doing business) के मामले में सबसे बेहतर राज्य साबित हुआ। डीपीआईआईटी अनुबंध का प्रवर्तन, दिवाला निपटान, कारोबार शुरू करना, संपत्ति का पंजीकरण, कर का भुगतान और सीमापार व्यापार जैसे मानकों पर ध्यान केंद्रित करते हुए रैंकिंग जारी करता है। विश्व बैंक की कारोबार सुगमता रैंकिंग 2020 में भारत ने 2014 के 142वें रैंक के मुकाबले 63वें स्थान पर छलांग लगाई थी।

निवेशकों को आकर्षित करना है उद्देश्य

मालूम हो कि इसका उद्देश्य घरेलू व वैश्विक निवेशकों को आकर्षित करना है। और इसके लिए कारोबारी माहौल में सुधार लाने के लिए राज्यों के बीच प्रतिद्वन्द्विता शुरू करना है। पीयूष गोयल ने स्वामी विवेकानंद के वक्तव्य का हवाला देते हुए कहा कि हम रुके नहीं और पूरे देश को तेज गति में बढ़ाने के लिए मिलकर काम किया। पीएम नरेंद्र मोदी के दूरदर्शी और गतिशील नेतृत्व में भारत ने पिछले पांच वर्षों में दुनिया भर में कारोबार करने की रैंकिंग में महत्वपूर्ण प्रगति की है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि कुछ राज्यों ने सुधार सुनिश्चित करने के लिए असाधारण ऊर्जा दिखाई है।

corona Update और National News के साथ Chhattisgarh और Madhyapradesh से जुड़ी खबरें पढ़े

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *