छत्तीसगढ़बड़ी खबरेंरायपुर

बुरे फंसे अजय चंद्राकर और शिव डहरिया,सिख समाज से मांगनी पड़ी माफ़ी

बुरे फंसे चंद्राकर और डहरिया

नमस्कार दोस्तों, फोर्थ आई न्यूज़ में आप सभी का स्वागत है। दोस्तों छत्तीसगढ़ विधानसभा का शीतकालीन सत्र 2 जनवरी से शुरू हुआ है। यह पांच दिनों तक चलेगा। सत्र की कार्यवाही के पहले ही दिन सदन में एक घटना हुई। दरअसल, जब रायपुर उत्तर के विधायक कुलदीप जुनेजा सदन में वन मंत्री मोहम्मद अकबर से एक मामले में सवाल पूछ रहे थे तब उन्हें बीच में टोकते हुए अजय चंद्राकर ने सरदार कहा इसके बाद कुलदीप जुनेजा ने कहा कि आप जब भी सरदार कहें तब साथ में जी लगाएं।

इसके बाद भूपेश सरकार में श्रम मंत्री शिव डहरिया ने कहा कि 12 बजने वाले हैं थोड़ा ध्यान रखो भाई। इस तरह से सदन में कुलदीप जुनेजा पर टिप्पणी किया जाना सिख समाज को नागवार गुज़रा और सोमवार शाम उन्होनें पूर्व मंत्री अजय चंद्राकर और श्रम मंत्री शिव डहरिया के बंगले का घेराव कर दिया। तेलीबांधा गुरुद्वारा प्रबंध समिति के साथ सिख समुदाय के लोग शिव डहरिया और अजय चंद्राकर के बंगले के बाहर जा पहुंचे। सबसे पहले ये सभी अजय चंद्राकर के घर गए, चंद्राकर ने बाहर आकर सभी से मुलाकात की और बताया कि आपत्तिजनक शब्द मंत्री डहरिया ने कहे हैं, फिर भी मैं माफी मांगता हूं। चंद्राकर ने लिखित में खेद प्रकट करते हुए माफी मांगी।

इसके बाद सभी लोग पहुंच गए मंत्री शिव डहरिया के घर, यहां धरना देकर मंत्री के खिलाफ जमकर नारेबाजी की गई। समाज के लोगों ने कहा कि वीडियो में साफ दिख रहा है कि विधानसभा में मंत्री डहरिया ने सिखों को लेकर गलत बातें कही हैं। इसका हम विरोध कर रहे हैं। उन्होंने हमारा मजाक बनाकर हमें अपमानित किया है। मंत्री के बंगले के बाहर बढ़े हंगामे की वजह से पुलिस पहुंची, मंत्री भी बाहर आए। भड़के हुए लोगों को देखकर समझाने का प्रयास करने लगे। खबर मिलते ही विधायक कुलदीप जुनेजा भी पहुंच गए थे। हालांकि लोग माफी के बाद ही शांत हुए।

शिव कुमार डहरिया ने गुरूद्वारा प्रबंध समिति तेलीबांधा के अध्यक्ष के नाम पर माफीनामा पत्र भी लिखा है। पत्र में कहा गया है कि देश के प्रति योगदान के लिए सिख समाज के महान और ऐतिहासिक योगदान का मैं सम्मान करता हूं। समाज के बीच जिस वीडियों को प्रचारित किया जा रहा है, जिसके संबंध में सिख समाज के भावनाओं को मेरे द्वारा कोई ठेस पहुंचाने की कोई मंशा नहीं थी।यदि मेरे कथन से किसी की भावनाओं को ठेस पहुंची है तो मैं क्षमाप्रार्थी हूं। वैसे आप इन दोनों राजनेताओं की टिप्पणी को कितना गलत मानते हैं,

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button