कोरोना पॉजिटिव पुलिसकर्मी की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत

कोरबा,  वैश्विक महामारी कोरोना के चक्कर में अब कई तरह की घटनाएं होने लगी है। संक्रमण से होने वाली मौतों के साथ-साथ अब इसके भय ने मौतों का आंकड़ा बढ़ा दिया है। एक पुलिस कर्मी की मौत इसी फेर में हो गई। घटनाक्रम से उसके परिजन और शुभचिंतक दुखी है। दर्री पुलिस ने मर्ग कायम कर लिया है।

एचटीपीसी दर्री के आवासीय परिसर अलखनंदा विहार के आवास क्रमांक एफ 33 में विद्युतकर्मी लक्ष्मी राठौर का परिवार निवासरत है। इस परिवार का एक सदस्य उमाकांत राठौर छत्तीसगढ़ पुलिस में आरक्षक के तौर पर बेमेतरा में पदस्थ था। कुछ दिनों पहले वह छुट्टियों पर घर आया था।

जांच कराने पर उसे कोरोना पॉजिटिव घोषित किया गया। उक्तानुसार उपचार किया जा रहा था। उस पर बराकर नजर रखी जा रही थी। ३६ वर्षीय उमाकांत की शारीरिक स्थिति को देखते हुए आंकलन किया जा रहा था कि दवाओं के डोज और पर्याप्त पोषक तत्व की प्राप्ति होने से वह जल्द ही बीमारी से उबर आयेगा।

खबर है कि उसकी स्थिति भी धीरे-धीरे सुधर रही थी। इन सबके बीच उसने गत रात्रि सीएसईबी के आवास में फांसी लगा ली। आज सुबह फंदे पर उसका शव लटका देखा गया। इसके साथ यहां कोहराम मच गया। चूंकि युवक के बारे में आसपास के लोगों को जानकारी थी, इसलिए वह चाहकर भी नजदीक नहीं आ सके। आज सुबह दर्री पुलिस को इस बारे में सूचना दी गई। सुरक्षा के साथ शव उतारा गया। मर्ग कायम करने के साथ आगे की प्रक्रियाएं पूरी की गई। प्रशासन को इस बारे में अवगत करा दिया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *