खेल

हैदराबाद : आईपीएल-11 : एक बार फिर चमके हैदरबाद के गेंदबाज, बेंगलोर की 5 रनों से हार

हैदराबाद : इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 11वें संस्करण में सोमवार को सनराइजर्स हैदराबाद ने एक बार फिर साबित किया है कि उसका गेंदबाजी आक्रमण सबसे शानदार है और किसी भी स्कोर का बचाव करने में सक्षम हैं। राजीव गांधी अंतर्राष्ट्रीय स्टेडियम में खेले गए मैच में हैदराबाद के बल्लेबाज रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर के सामने 20 ओवरों में 146 रन ही बना पाए थे, लेकिन मेजबान टीम के गेंदबाजों ने दिग्गज बल्लेबाजों से सजी बेंगलोर को 20 ओवरों में छह विकेट पर 141 रनों पर सीमित कर पांच रनों से मैच अपने नाम कर लिया।

गेंदबाजी आक्रमण सबसे शानदार है और किसी भी स्कोर का बचाव करने में सक्षम हैं

इस हार के बाद बेंगलोर की प्लेऑफ में जाने की संभावना बेहद कम हो गई है। उसे अब अपने बाकी के बचे सारे मैचों में जीत हासिल करने के साथ ही दूसरी टीमों के प्रदर्शन पर भी निर्भर रहना होगा। हैदराबाद ने छोटे लक्ष्य का बचाव इस सीजन में पहली बार नहीं किया। वो इससे पहले मुंबई इंडियंस के खिलाफ भी 118 रनों के स्कोर को बचा चुकी है। अपने गेंदबाजों की क्षमता पर भरोसा कर मैदान पर उतरे हैदराबाद के कप्तान केन विलियसन को तीसरे ओवर में भी अच्छी शुरुआत की भनक लग गई। शाकिब अल हसन (चार ओवर, 36 रन दो विकेट) ने पार्थिव पटेल (20) को पवेलियन भेज दिया।

इससे पहले मुंबई इंडियंस के खिलाफ भी 118 रनों के स्कोर को बचा चुकी है

गेंदबाजों ने रन गति को ज्यादा आगे नहीं जाने दिया था और इसलिए बेंगलोर के दूसरे सलामी बल्लेबाज मनन वोहरा (20) तथा कप्तान विराट कोहली (39) रनों के लिए संघर्ष कर रहे थे। इसी संघर्ष के बीच संदीप शर्मा (चार ओवर, 20 रन, एक विकेट) ने मनन को बोल्ड कर बेंगलोर को परेशानी की शुरुआत कर दी। मनन 60 के कुल स्कोर पर आउट हुए।

मनन 60 के कुल स्कोर पर आउट हुए

इसी परेशानी में शाकिब ने कोहली को युसूफ पठान के हाथों कैच करा बेंगलोर को 74 रनों के कुल स्कोर पर तीसरा और बड़ा झटका दिया। कोहली ने 30 गेंदें खेली जिन पर पांच चौके और एक छक्का लगया। दारोमदार अब्राहम डिविलियर्स पर था, लेकिन राशिद खान (चार ओवर, 31 रन एक विकेट) की बेहतरीन गुगली ने उन्हें जिम्मेदारी नहीं निभाने दी और पांच के निजी स्कोर पर डिविलियर्स को पवेलियन में बैठा दिया। मोइन अली अपने पहले मैच में सिर्फ 10 रन बना पाए।

कोहली ने 30 गेंदें खेली जिन पर पांच चौके और एक छक्का लगया

वो 84 के कुल स्कोर पर सिद्धार्थ कौल (चार ओवर, 25 रन एक विकेट) का शिकार बने। यहां हैदराबाद की जीत तय लग रही थी। 21 रनों पर नाबाद लौटने वाले मनदीप सिंह और आखिरी गेंद पर आउट होने वाले कोलिन डी ग्रांडहोम (33) ने हालांकि बेंगलोर के संघर्ष जारी रखा। यह जोड़ी रनों की गति को नहीं बढ़ा पाई। राशिद द्वारा फेंके गए 17वें ओवर में कोलिन ने दो शानदार छक्के जड़ बेंगलोर की जीत की उम्मीदों को हवा दी, लेकिन अगला ओवर भुवनेश्वर ने किया जिसमें छह रन आए। 19वें ओवर में कौल ने सिर्फ सात रन दिए।

यह जोड़ी रनों की गति को नहीं बढ़ा पाई

आखिरी ओवर में बेंगलोर को जीत के लिए 12 रनों की दरकार थी लेकिन डेथ ओवर विशेषज्ञ भुवनेश्वर के सामने मनदीप और कोलिन दोनों कुछ नहीं कर पाए और बेंगलोर के हिस्से इस सीजन में एक और हार आई। इन दोनों बल्लेबाजों ने छठे विकेट के लिए 57 रनों की साझेदारी की जो अंतत: विफल ही रही। इससे पहले, बेंगलोर के गेंदबाजों ने भी अच्छा प्रदर्शन किया और नियमित अंतराल पर विकेट चटकाने के साथ ही रनों पर अंकुश लगाए रखते हुए हैदराबाद को बड़ा स्कोर नहीं बनाने दिया।

दोनों बल्लेबाजों ने छठे विकेट के लिए 57 रनों की साझेदारी की जो अंतत: विफल ही रही

हैदराबाद के लिए विलियमसन ने सबसे ज्यादा 56 रन बनाए। आखिरी चार ओवरों में टीम सिर्फ 34 रन जोड़ पाई जबकि छह विकेट खो बैठी। एलेक्स हेल्स (5) इस मैच में अपना बल्ला नहीं चमका पाए और 15 के कुल स्कोर पर टिम साउदी की बेहतरीन इनस्विंग पर बोल्ड हो गए। मोहम्मद सिराज ने शिखर धवन (13) को 38 के कुल स्कोर पर पवेलियन की राह दिखाई। 10 रन बाद मनीष पांडे (5) को युजवेंद्र चहल ने अपना शिकार बनाया। 48 रनों के कुल स्कोर पर अपने तीन विकेट खो चुकी हैदराबाद को विलियमसन और हरफनमौला खिलाड़ी शाकिब (35) ने संकट से निकाला और चौथे विकेट के लिए 64 रनों की साझेदारी की।

आखिरी चार ओवरों में टीम सिर्फ 34 रन जोड़ पाई जबकि छह विकेट खो बैठी

कप्तान उमेश यादव की गेंद पर एक और बड़ा शॉट खेलने के प्रयास में 112 के कुल स्कोर पर सीमा रेखा के पास मनन के हाथों लपके गए। उन्होंने अपनी पारी में 39 गेंदों का सामना किया और पांच चौकों के अलावा दो छक्के लगाए। विलियसमन के जाने के बाद शाकिब भी टिम साउदी का शिकार बन 124 के कुल स्कोर पर आउट हो गए। अंत में पठान से तेजी से रन बटोरने की उम्मीद थी, लेकिन वह सात गेंदों में दो चौकों की मदद से 12 रन ही बना सके। रिद्धिमान साहा (8), राशिद (1), भुवनेश्वर (1), कौल (1) बड़े शॉट नहीं खेल सके। बेंगलोर के लिए साउदी और सिराज ने तीन-तीन विकेट लिए। उमेश, युजवेंद्र चहल को एक-एक सफलता मिली।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button