जानिए एक साल बाद भारतीय बाजार की दिशा क्‍या है और इसका भविष्‍य किधर जाता है?

नए साल की शुरुआत हो चुकी है. यह साल सियासी और आर्थिक तौर पर काफी अहम माना जा रहा है. शुरुआती छह महीनों के भीतर लोकसभा चुनाव होने वाले हैं तो वहीं आर्थिक मोर्चे पर भी कई बड़े फैसले लिए जा सकते हैं. इन फैसलों के जरिए आपको राहत मिलने की संभावना है. लेकिन सवाल ये है कि बीते एक साल में आर्थिक मोर्चे पर आपको कितनी राहत मिली है. इसके साथ ही यह जानना भी जरूरी है कि ठीक एक साल बाद भारतीय बाजार की दिशा क्‍या है और इसका भविष्‍य किधर जाता है. इन सभी सवालों का जवाब हम आपको इस रिपोर्ट में देने वाले हैं.

1 साल बाद शेयर बाजार का क्‍या हाल

सबसे पहले भारतीय शेयर बाजार की बात करते हैं. ठीक एक साल पहले यानी 1 जनवरी 2018 को सेंसेक्‍स 33,812 के स्‍तर पर था. वहीं एक साल बाद 1 जनवरी 2019 को सेंसेक्‍स 36,160 के स्‍तर पर है. यानी एक साल बाद सेंसेक्‍स में करीब 2,348 अंक की बढ़त है. हालांकि पूरे साल के दौरान सेंसेक्‍स में उतार-चढ़ाव भी देखने को मिला और यह 29 अगस्‍त 2018 को  38,989 अंकों के स्‍तर पर  पहुंच गया था. जबकि   23 मार्च 2018 को यह  32,483 के लो लेवल पर था. वहीं निफ्टी 1 जनवरी 2018 को 10, 435 के स्‍तर पर था जो आज 10,881 के स्‍तर पर है.

2019 में क्‍या रहेंगे हालात

शेयर मार्केट एक्‍सपर्ट अजय केडिया के मुताबिक 2019 के साल में सेंसेक्‍स का लेवल 44 हजार तक जा सकता है.  वहीं निफ्टी भी 11 हजार के पार और 12 हजार के करीब रह सकता है. उन्‍होंने बताया कि लोकसभा चुनाव को देखते हुए आर्थिक मोर्चे पर कुछ बड़े फैसले लिए जा सकते हैं. इसके अलावा जीडीपी ग्रोथ और दुनिया भर की अलग-अलग रेटिंग एजेंसिया भी देश को खुशखबरी दे सकती हैं.

Image result for money

रुपया कितना कमजोर

यह साल डॉलर के मुकाबले रुपये के लिए बेहद खराब रहा. 1 जनवरी 2018 को प्रति डॉलर के मुकाबले 63.87 रुपय का था जो 1 जनवरी 2019 यानी आज प्रति डॉलर 69.62 रुपये का है. यानी एक सालों में रुपया 5.75 रुपये कमजोर हुआ है.

सोना कितना महंगा

1 जनवरी 2018 को सोना 30,415 रुपये प्रति 10 ग्राम था जो अब 1 जनवरी 2019 को 32,270 रुपये प्रति 10 ग्राम पर है. जबकि चांदी की कीमत 1 जनवरी 2018 को  38,925 रुपये प्रति किलोग्राम थी तो आज एक साल बाद यह 39,100 रुपये प्रति किलोग्राम है.

पेट्रोल कितना सस्‍ता

1 जनवरी 2019 को दिल्‍ली में पेट्रोल 68.65 रुपये प्रति लीटर है जबकि ठीक एक साल पहले 69.97 रुपये कीमत थी. वहीं डीजल आज 62.66 रुपये प्रति लीटर है जो 1 जनवरी 2018 को 59.70 को थी. इसके अलावा सब्सिडी वाले LPG सिलेंडर दिल्‍ली में 1 जनवरी 2019 को 494.99 रुपये में बिक रहे हैं जो 1 जनवरी 2018 को 495.64 रुपये के थे.

ग्राहकों पर EMI का बोझ बढ़ा

वैसे तो इस बार रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने रेपो रेट को 6.5 फीसदी पर बरकरार रखा है. लेकिन बीते एक साल की बात करें तो जनवरी 2018 में यह 6 फीसदी था. यानी 1 साल में 0.5 फीसदी रेपो रेट बढ़ गया है. रेपो रेट बढ़ने का मतलब ये है कि होम लोन के ग्राहकों पर EMI का बोझ बढ़ जाता है. रेपो रेट के बढ़ने के बाद बैंक भी लोन पर अपनी ब्याज दरों को बढ़ा देते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *