कोई मीडिया में आए, तो उसे कॉम्प्रोमाइज करना पड़ेगा क्या ?

जिस घटना के बारे में आज हम आपको बताने जा रहे हैं, वो न सिर्फ मीडिया संस्थानों की हकीकत बयां करता है, बल्कि उन लड़कियों के मन में भी डर का भाव पैदा कर देता है, जो अपने बलबुते पर और सिर्फ अपने काम के दम पर कुछ करने की तमन्ना रखतीं हैं. हालांकि इन घटनाओं का पीठ पीछे सपोर्ट करने वाले लोग कहते हैं, कि ये तो अब आम बात बन चुकी है, अगर बॉस आपसे कोई अनैतिक डिमांड करता है तो इसमें कोई बड़ी बात नहीं, लेकिन कहते हैं अज्ञानी कोई गुनाह करे तो उसे माफ भी किया जा सकता है, लेकिन ज्ञानी जब वही गुनाह करता है, तो उसका गुनाह माफी के काबिल नहीं हो सकता. ये बात मीडिया पर इसलिये सटीक बैठती है, क्योंकि मीडिया वो माध्यम है, जो दबे कुचलों की आवाज उठाता है, लोगों को इंसाफ दिलाने की बात करता है और अगर उसी मीडिया में उसके वरिष्ठ अधिकारी अपने जूनियर कर्मचारियों का शारीरिक और मानसिक शोषण सिर्फ अपना उल्लू सीधा करने के लिए करें, तो उनका गुनाह कैसे माफ किया जा सकता है ।

NEWS-18 NETWORK की घटना

ये घटना इंदौर की रहने वाली एक युवती की है, जिसने मध्यप्रदेश छत्तीसगढ़ के बंसल न्यूज, फिर आईबीसी24 जैसे संस्थानों में बतौर संवाददाता काम किया, चूंकि आगे बढ़ना हर कोई चाहता है, लिहाजा इंदौर की इस युवती ने  हैदराबाद में न्यूज-18 नेटवर्क, एमपीसीजी में बतौर एंकर ज्वाइन किया, जहां वो फिलहाल काम कर रही थी ।

कहा गया कैबिन में जाने से मिलेगा फायदा – पीड़िता

पीड़त एंकर ने अपने फेसबुक वॉल पर लिखा है जिसके मुताबिक ज्वाइनिंग के कुछ ही महीनों बाद, उसका चैनल एडिटर अभय कृष्ण उपाध्याय, उसके साथ अश्लील और डबल मीनिंग बातें करने लगा, जिसके बाद मामले की शिकायत पीड़ित ने मैनेजमेंट में की, लेकिन वहां भी उसकी कोई सुनवाई नहीं हुई, यही नहीं उसका आरोप है कि उसके साथ में काम करने वाले लोगों ने भी उसका साथ नहीं दिया ।

ये खबर भी पढ़ें – चश्मा नहीं दिया न्यूज पढ़ने, अंशुमान शर्मा पर एक और मीडियकर्मी के करियर की बलि लेने का आरोप

मजबूरी में थाने में की शिकायत

पूरे मैनेजमेंट में शिकायत करने के बावजूद जब अभय उपाध्याय के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हुई तो पीड़िता ने मामले की शिकायत थाने में दर्ज कराई, लेकिन हैरानी वाली बात ये है कि थाने में शिकायत के बावजूद भी पीड़िता को संघर्ष करना पड़ा और पुलिस ने भी तब ऑफिस में दस्तक दी, जब आरोपी अभय उपाध्याय वहां से फरार हो चुका था ।

निडर होकर सोशल साइट पर बताई आप बीती

ऐसी परिस्थियों में जहां लोग, या तो जॉब छोड़ देते हैं, या फिर ऐसे लोगों के सामने घुटने टेक देते हैं, लेकिन इस इंदौरी युवती ने तीसरा रास्ता अपनाया, जो रास्ता उसके करियर को खतरे में डाल सकता था, जो रास्ता उसे हमेशा- हमेशा के लिए मीडिया से दूर कर सकता था, लेकिन बावजूद इसके एस एंकर ने अपनी आप बीती फेसबुक पर शेयर की, केंद्र, राज्य, पुलिस, महिला आयोग सभी जगह शिकायत की. लेकिन जैसा की होता है, देश में आवाज उठाने वाले के एक नहीं ढेरों मुश्किलों का सामना करना पड़ता है, वैसा ही कुछ इस एंकर के साथ भी हो रहा है और वो फिलहाल उन परिस्थियों का डटकर सामना कर रही है ।

कुछ तो लोग कहेंगे

हमने इस खबर के लिखने से पहले पीड़िता के बारे में भी कुछ लोगों से जानने की कोशिश की,  किसी ने उसके इस कदम को सराहा, तो कुछ मीडिया के लोगों ने पीड़िता पर ही सवाल उठा दिये, जिससे बाद एक बात तो साफ हो गई, उसूलों वाली मीडिया सिर्फ कागज के पन्नों और टीवी स्क्रीन पर ही दिखती है, इसके पीछे ये भी उसी समाज का हिस्सा है, जिसमें घिनौने अपराधों को कीचड़ से धोने की कोशिश की जाती है.

पीड़िता के वे पोस्ट जो उसने खुद पोस्ट किये जो आप भी पढ़े

वीडियो भी जरूर देखें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *