चिकित्सा अधिकारी डॉ. तोमर ने कोविड से नहीं मानी हार (कहानी सच्ची है)

 खंड चिकित्सा अधिकारी सेहरा डॉ. उदय प्रताप सिंह तोमर कोविड महामारी के दौर में परिवार के संक्रमित होने के बावजूद भी अपने कार्यस्थल पर डटे रहे। अपने कर्तव्य स्थल पर लगातार बिना अवकाश लिये कोविड केयर सेंटर में भर्ती मरीजों का उपचार एवं देखरेख, किल कोरोना अभियान सर्वे निरीक्षण एवं समस्त राष्ट्रीय कार्यक्रमों का सफल संचालन कर सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र सेहरा के स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं का हौसला बढ़ाते रहे।
 डॉ. तोमर के घर में पिता ब्रजेन्द्र सिंह उम्र 68 वर्ष, भाभी अनिता सिंह उम्र 38 वर्ष भतीजी कुमारी गौरी तोमर उम्र 13 वर्ष एवं भतीजा आर्यवीर सिंह तोमर उम्र 8 वर्ष, बहन श्वेता सिकरवार उम्र 29 वर्ष कोविड संक्रमण से संक्रमित थे।

 घर के 5 सदस्यों के कोरोना पॉजिटिव होने के उपरांत भी एवं गर्भवती पत्नी प्रियंका तोमर की अपने दायित्वों के साथ-साथ देखरेख कर अपने कर्तव्य पर डॉ. तोमर पूर्ण निष्ठा के साथ डटे रहे। डॉ. उदय तोमर स्वयं भी सितम्बर माह में संक्रमित हुये, किन्तु कोविड की गाइडलाइन का पालन कर परिवार में एक स्वस्थ वातावरण बनाया एवं गर्भवती पत्नी की भी पूर्ण देखभाल की।

उनके द्वारा कोविड नियमों का पालन करते हुये, घर परिवार और चिकित्सक पद की जिम्मेदारियों का बखूबी निर्वहन किया गया। डॉ. तोमर के घर 09 मई 2021 को संतान प्राप्ति की खुशियां गूंजी। परिवार के सभी सदस्य कोविड संक्रमण से 19 मई 2021 को कोविड केयर सेंटर सेहरा से स्वस्थ हुये। डॉ. उदय प्रताप सिंह तोमर सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र सेहरा में लगातार अपनी सेवाएं दे रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button