अब सुष्मिता सेन बोलीं ‘मुझे बिना बताए आखिरी वक्त में फिल्मों से निकाल दिया जाता था’

मुंबई, बॉलीवुड की बेहतरीन एक्ट्रेस रहीं सुष्मिता सेन ने 10 सालों बाद फिर एक्टिंग में कमबैक किया है । वे वेब सीरीज ‘आर्या’ में नजर आईं जो 19 जून को डिज्नी प्लस हॉटस्टार पर रिलीज हुई है । इसमें उनके काम को खूब सराहना मिल रही है।

सुष्मिता सेन कहती हैं कि वे खुद को बहुत भाग्यशाली मानती हैं कि वे फिल्मों से 10 सालों तक दूर रहीं, लेकिन अपने फैंस से नहीं और इसीलिए मेरा फिल्मों में वापसी करना निश्चित था । फिर मुझसे दूर रहने की यही वजह थी कि मुझे अच्छी स्क्रिप्ट नहीं मिल रही थी ।

मुझे ओल्ड स्कूल रोल्स ऑफर हो रहे थे । शायद मुझे लगता है मैं किसी फिल्मेकर को उस वक्त इंस्पायर नहीं कर पा रही थी कि मुझे अच्छे रोल ऑफर करें । मुझे मेरा किरदार पसंद नहीं आ रहा था तो मैंने ब्रेक लेकर सही रोल का वेट किया लेकिन जब आर्या के डायरेक्टर राम वाधवानी मेरे पास आए तो मुझे कहानी बेहद पसंद आई मैंने हामी भर दी

सष्मिता सेन कहती हैं कि मैंने इतनी सारी फिल्में देखी है जहां मुझे आखिरी वक्त पर निकाल दिया गया और उनकी तादाद इतनी ज्यादा है कि मैं अब गिनती भूल चुकी हूं। मुझे बिना बताए फिल्मों से निकाल दिया जाता था जिसकी खबर मुझे अखबारों से मिलती थी। मुझे खुद बताया तक नहीं जाता था और वह भी तब जब मैं उसे अनाउंस कर चुकी होती थी और उसके बाद मुझे पब्लिकली शर्मिंदगी फील होती थी लेकिन फिर मैंने खुद को यही समझाया कि जो फिल्में मुझे लेकर नहीं बनी शायद वह मेरे नसीब में नहीं थीं। खुद को हमेशा स्ट्रॉन्ग रखा।

इस इंडस्ट्री में आपको खुद पर भरोसा करना बहुत जरूरी है कभी किसी को इतना हक मत दीजिए कि वह आपको फील करवा सके कि उसके बिना तो आप फिल्म इंडस्ट्री में टिक ही नहीं पाएंगे।

जब कभी लाइफ में लो फील करती है तो कैसे उबारती है उससे?

हर दिन एक सा नहीं होता और मैं यही मानती हूं। अगर मेरी कोई कोशिश नाकाम होती है तो दिल दुखता है क्योंकि दिल सबका टूटता है लेकिन अपने आप को समझाना पड़ता है। यह हम पर है कि हम कितनी जल्दी उठ खड़े होते हैं। मैं खुद से यही कहती हूं कि अगर यह कोशिश विफल रही तो कोई बात नहीं अगली बार कोशिश सफल होगी। आपको खुद समझाना पड़ता है।

बाकी अदाकारा से आपकी तुलना होती है तो कैसा लगता है?

मैं खुशनसीब हूं कि मैं ऐसे डिस्कशन में ज्यादा पढ़ती नहीं हूं क्योंकि बाकियों की तरह इंडस्ट्री में टॉप 5 में जगह बनाने की होड़ मुझ में कभी नहीं रही। मुझे बस मेरे हुनर के लिए जाना जाता है और टॉप फाइव मेरी विनती है नहीं तो मुझे इन तुलना से कोई फर्क नहीं पड़ता। मुझे समझ नहीं आता कि जब दो इंसानों के डीएनए तक मैच नहीं कर सकते तो आप उनकी तुलना कैसे कर सकते हैं। ये गलत है।

CG corona Updateऔर MP Corona Updateदेश में Covid19का ताजा अंकड़ा देखने के लिए यहां क्लिक करें

Nationalन्यूज  Chhattisgarh और Madhyapradesh से जुड़ी  Hindi News से अपडेट रहने के लिए Facebookपर Like करें, Twitterपर Follow करें  और Youtube पर  subscribeकरें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button