रायपुर: आरोपों से तिलमिलाई भाजपा, प्रवक्ता बोले दम है तो केस करें मुझ पर

रायपुर: कांग्रेस नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला के आरोपों से भाजपा तिलमिला गई है, इन्हीं आरोपों के जबाव देते हुए, भाजपा प्रवक्ता नरेश गुप्ता ने कहा कि राहुल गांधी की सभा लोग मसखरा समझकर देखने के लिए जाते हैं, उन्होने कहा कि नोटबंदी के दौरान आम लोगों को बेहद फायदा हुआ है, लेकिन कांग्रेस का पैसा उसमें डूब गया, ये एक ऐसी पार्टी है जो गणतंत्र नहीं गनतंत्र पर बात करते हैं, वे यहीं नहीं रुके उन्होने कहा कि अगर कांग्रेस पार्टी में दम है कि हमसे बहस कर लें, छत्तीसगढ़ में जितना बड़ा कांग्रेसी नेता आता उतना बड़ा आरोप इस प्रदेश में लगाकर जाता है.

कांग्रेस के आरोप भी पढ़ें रायपुर : नोटबंदी देश का सबसे बड़ा महाघोटाला : सुरजेवाला

राहुल गांधी का मसखरा देखने जाते हैं लोग

भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि कांग्रेस को यही नहीं पता कि प्रदेश में कितने बेरोजगार हैं, जो नेता आता है अपने हिसाब से वो कभी दस लाख, दो लाख और पचास लाख बता देता है, इन्हें हकीकत का ज्ञान नहीं हैं, इनके राष्ट्रीय अध्यक्ष की सभा में भी लोग इसे मसखरा समझकर देखने जाते हैं ।

इनके नेता नक्सलियों को बताते हैं क्रांतिकारी

देश के गणतंत्र को कांग्रेस पार्टी खराब कर रही है, उनके नेता नक्सलियों को क्रांतिकारी कहते हैं, आतंकवादियों को ‘जी’ कहकर संबोधित करते हैं ऐसे नेताओं को शर्म आनी चाहिये ।

नोटबंदी के दौरान कितनी संपत्ती खरीदी ?

भाजपा प्रवक्ता से जब हमने सवाल किया कि क्या वे बताएंगे कि नोटबंदी के दौरान भाजपा ने कहां-कहां और कितनी संपत्ति खरीदी, उन्होने इस सवाल का जवाब तो नहीं दिया, बल्कि ये जरूर कहा कि क्या कांग्रेस बताएगी कि उनके पास कितनी संपत्ति है, क्या वो बताएगी कि उन्होने कहां-कहां संपत्ति खरीद रखी है ।

दम हैं तो करें मानहानी का दावा- भाजपा प्रवक्ता

भाजपा प्रवक्ता ने कांग्रेस के तत्कालीन मानव संसाधन मंत्री पर आरोप लगाया कि जो इलेक्ट्रोनिक बुक्स खरीदी उसका कितना प्रतिशत पैसा एक ही परिवार के पास गया, मेरी खुली चुनौती है कि वे बता दें कि उनके पास कितनी संपत्ति है.

क्या भाजपा ने चुनाव का किया व्यापारिकरण ?

जब हमने भाजपा प्रवक्ता से सवाल किया कि छत्तीसगढ़ चुनाव का उन्होने व्यापारिकरण कर दिया है और बेजा पैसों का इस्तेमाल किया जा रहा है, इस पर भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि हमारे पास पैसे नहीं हैं, हम छोटे-छोटे से कार्यकर्ता और संगठन के बल पर चुनाव लड़ते हैं, बेजा पैसे का इस्तेमाल तो कांग्रेस पार्टी करती है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *