7 करोड़ से ज्यादा कोरोना टेस्टिंग के साथ भारत ने 10 लाख पर 50 हजार टेस्ट किए, दुनिया में तीसरे नंबर पर

नईदिल्ली, भारत में कोरोना वायरस की बढ़ती रफ्तार की वजह कोरोना टेस्टिंग भी है, देश में अब हर दिन 12 लाख से 14 लाख तक टेस्ट किए जा रहा हैं. इनमें से हर दिन करीब 1 लाख लोग पॉजिटिव निकल रहे हैं.

भारत ने जिस तरह से अपनी कोरोना टेस्टिंग की रफ्तार बढ़ाई है वैसी रफ्तार दुनिया में कुछ ही मुल्कों में हो पा रही है. वहीं टेस्टिंग के मामले में भी भारत दुनिया में तीसरे नंबर पर है. जहां अबतक 7 करोड़ से ज्यादा टेस्ट हो चुके हैं.

पहले नंबर पर चीन, पर भरोसे लायक नहीं

https://www.worldometers.info/ के आंकड़ों के मुताबिक कोरोना टेस्टिंग के मामले में चीन दुनिया में पहले नंबर पर है जहां अबतक 16 करोड़ से ज्यादा टेस्टिंग हो चुकी है. लेकिन चीन पर भरोसा करना थोड़ा मुश्किल है क्योंकि चीन बताने से ज्यादा भरोसा छिपाने में रखता है और उसकी टेस्टिंग को भी पुख्ता नहीं कहा जा सकता.

कोरोना टेस्टिंग दूसरे नंबर पर अमेरिका

कोरोना वायरस की टेस्टिंग के मामले में अमेरिका दुनिया में दूसर नंबर पर है जहां अबतक 10 करोड़ से ज्यादा टेस्ट हो चुके हैं. जो दस लाख की आबादी पर 3 लाख से ज्यादा है. वहीं कोरोना वायरस के मामले में अमेरिका पहले नंबर पर है जहां अबतक 72 लाख से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं

पाकिस्तान का जोर आतंक पर ?

हमारा पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान भले कोरोना वायरस को काबू में करने की बात कर रहा हो लेकिन हकीकत में पाकिस्तान में कोरोना वायरस की टेस्टिंग का अभाव है. यहां बेहद कम टेस्ट किए जा रहे हैं. पाकिस्तान में अबतक 33 लाख के करीब टेस्ट हुए हैं. जो पाकिस्तान की आबादी के हिसाब से 10 लाख लोगों पर महज 15 हजार के करीब है.

भारत में 10 लाख में से 50 हजार लोगों के टेस्ट

वहीं अगर भारत की बात करें तो टेस्टिंग की स्पीड में बेहद तेजी आई हैं. और देश की सवा सौ करोड़ से भी ज्यादा आबादी में से 10 लाख लोगों पर 50 हजार लोगों के टेस्ट कर लिए गए हैं. ये टेस्ट 7 करोड़ से भी ज्यादा हैं.

 

 

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *