CM भूपेश बघेल ने केरलापाल में गौठान का किया निरीक्षण

रायपुर : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने नारायणपुर प्रवास की शुरूआत आज ग्राम केरलापाल स्थित गौठान से की। मुख्यमंत्री के यहां पहुंचने पर ग्रामिणों ने पारम्परिक नृत्य और तिलक-आरती के साथ उनका आत्मीय स्वागत किया। मुख्यमंत्री ने गौठान के निरीक्षण के दौरान राष्ट्रीय आजीविका मिशन एवं कृषि विज्ञान केन्द्र द्वारा स्थानीय महिला स्व-सहायता समूहों, पशुपालकों हेतु किये जा रहे विभिन्न आजीविका संवर्धन गतिविधियों की सराहना की।

GGG

मुख्यमंत्री ने राष्ट्रीय आजीविका मिशन (बिहान) की महिला समूहों द्वारा मशरूम उत्पादन, सांवा, कोदो, कुटकी, कुल्थी के प्रसंस्कृत पैकेट को विक्रय के लिए स्टाॅल लगाए गए स्टाॅल का निरीक्षण किया। मुख्यमंत्री ने स्व सहायता समूह की महिलाओं का उत्साहवर्धन किया। उन्होंने गोठान की स्व-सहायता समूहों द्वारा निर्माण किए जा रहे जैविक खाद और विक्रय के संबंध में भी समूह की महिलाओं से पूछा। इसके साथ ही कृषि विज्ञान केन्द्र के स्टॉल में स्व सहायता समूह की महिलाओं से हर्बल गुलाल निर्माण, बटेर, बतख एवं कड़कनाथ नस्ल के कुक्कुटपालन के बारे में भी मुख्यमंत्री ने जानकारी ली।

गौठान निरीक्षण के दौरान मुख्यमंत्री ने पारंपरिक ‘‘छतौड़ी’’ पहन कर चारा कटाई करके पशुओं को चारा भी खिलाया। उन्होंने गोधन न्याय योजना के तहत् गोबर विक्रेता महिलाओं समूहों से भी रूबरू हुए। उल्लेखनीय है कि ग्राम केरलपाल स्थित गौठान 3 एकड़ में फैला हुआ है। जिसमें 198 पशुपालक परिवारों, 113 पंजीकृत गोबर विक्रेता परिवार तथा इसमें 15 महिला समूह कार्यरत हैं। इस गौठान में लगभग 275 गौवंशों को रखा गया है। इस गौठान में गोबर विक्रय की मात्रा 2352 किलोग्राम है। गौठान में जैविक खाद निर्माण, चारागाह विकास, उन्नत किस्म के फलदार एवं फूलदार पौधारोपण, सुपोषण वाटिका जैसे कार्य संचालित किए जा रहे हैं। 

GG

मुख्यमंत्री के निरीक्षण के दौरान ग्राम माहका निवासी पशुपालक बीरसिंह नाग ने उन्हें बताया कि गोबर संग्रहण से उन्हें प्रतिमाह 17 हजार रूपये की आय हो रही है उनके द्वारा लगभग 300 किलो से अधिक गोबर संग्रहण किया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने उन्होंने बधाई देते हुए सराहना की। मुख्यमंत्री ने गौठान में कृषि विज्ञान केन्द्र द्वारा लगाये गये पोषण वाटिका में आम पौधे का रोपण भी किया। 
    

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button