कोरोना मरीजों के शवों के साथ बदसलूकी, एंबुलेंस नहीं आई तो 12 घंटे बाद ट्रॉली में लेजाकर किया अंतिम संस्कार

नईदिल्ली, देश में हर दिन कोरोना संक्रमण की वजह से सैकड़ों लोगों की मौत हो रही है. जबकि अब हर दिन 50 हजार से ज्यादा लोग संक्रमित हो रहे हैं. ऐसे में जो तस्वीरें सामने आ रही हैं उन्हें देखकर लोगों में गुस्सा भी और इस बीमारी से डर भी. दरअसल इन दिनों कोरोना संक्रमित मरीजों के शवों के साथ बेहद बुरा बर्ताव हो रहा है. कई जगह ऐसे मरीजों के अंतिम संस्कार भी उचित ढंग से नहीं हो पा रहा है ।

तमिलनाडु में भी प्रशासन की लापरवाही की एक ऐसी ही तस्वीर सामने आई है। यहां के थेनी में एक कोरोना संक्रमित महिला का शव ट्रॉली से कब्रिस्तान ले जाया गया। हैरानी की बात है कि बुजुर्ग महिला की मौत हो जाने के 12 घंटे बाद भी एंबुलेंस नहीं आई, ऐसे में मजबूरन उनका शव ट्रॉली में ले जाया गया।

इस तस्वीर ने लोगों में गुस्से के साथ साथ डर भी पैदा कर दिया है। कोरोना मरीज का शव को इस तरह ले जाना कई लोगों के ​जान के लिए खतरनाक भी साबित हो सकता है। 75 वर्षीय महिला के परिवार वालों के अनुसार पिछले कुछ दिनों से उनकी तबीयत ठीक नहीं थी। कोरोना की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद उन्हे घर में ही क्वारनटीन रहने की सलाह दी गई थी। शुक्रवार को तबीयत अधिक खराब होने के कारण महिला की मौत हो गई।

परिवार वालों का कहना है कि मौत के तुरंत बाद नगर निगम के अधिकारियों को सूचना दी गई लेकिन 12 घंटे बीतने के बाद भी वहां कोई नहीं पहुंचा। ऐसे में शव को एक ट्रॉली में ले जाने की व्यवस्था की गई। एक स्थानीय सफाईकर्मी ने महिला के बेटे की मदद की और शव को शमशान घाट ले जाया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *