रानी मुखर्जी के MeToo बयान पर अब ऐसे जवाब द‍िया कंगना ने

नई दिल्ली

बॉलीवुड एक्ट्रेस रानी मुखर्जी ने कुछ दिन पहले एक चैट शो के दौरान #metoo को लेकर एक ऐसा बयान दिया था जिसपर कई एक्ट्रेस ने आपत्ती जताई थी। इतना ही नहीं, सोशल मीडिया पर भी उन्हें काफी ट्रोल किया गया है। वहीं अब बॉलीवुड क्वीन कंगना रनौत ने भी रानी के बयान पर अपनी राय सामने रखी है।

  • कंगना ने कहा है कि ‘हमें रानी लक्ष्मीबाई की तरह महिलाओं को सशक्त और समर्थ बनाने की जरूरत है। मैंने पहले भी कहा था कि हमारे समाज में कई ऐसी महिलाएं हैं जिन्हें सशक्त बनाने की जरूरत है। लेकिन कुछ महिलाएं रानी लक्ष्मीबाई की तरह निडर भी हैं। हमें उन्हें हत्तोसाहित नहीं करना चाहिए। जब मैं 16 साल की थी तब मैंने एक एफआईआर करवाई थी। मैंने एसॉल्ट के खिलाफ पहली बार एफआईआर कराई थी। जो लड़कियां अपने लिए स्टैंड ले रही हैं उन्हें सपोर्ट करने की जरूरत है। यहां तक की बच्चों को भी सशक्त बनाना चाहिए। सशक्तिकरण की हर जगह जरूरत है।’

 

  • बता दें कि रानी ने कहा था कि ‘#MeToo के लिए महिलाओं को अपने अंदर से ही इतना सशक्त होने की जरुरत है। सेल्फ डिफेंस जरूरी हैं। लड़कियों को खुद का बचाव करना आना चाहिए। अपनी ताकत पर भरोसा रखना चाहिए। आखिर अपनी सुरक्षा का जिम्मा अपने हाथ में होता है। मार्शल आर्ट सीखना चाहिए।

  • जिसपर वहां मौजूद दीप‍िका पादुकोण और आल‍िया भट्ट ने रानी के इस बयान पर आपत्ती जताई थी। उन्होंने इसका विरोध करते हुए कहा था कि ‘हर लड़की फिज‍िकली फिट नहीं होती है, कई बार घटनाएं घर में होती है। मह‍िलाओं को सुरक्ष‍ित महौल देने के लिए समाज का सुधरना जरूरी है।’

 

  • वहीं #metoo की बात  कुछ दिनों पहले बॉलीवुड में #metoo अभियान जोरों पर था। इसके तहत कई बड़े सितारों के चेहरे से नकाब हटे थे। हाल ही में खबर भी आई थी कि मशहूर फिल्म मेकर साजिद खान पर लगे आरोपों को ध्यान में रखते हुए IFTDA यानी इंडियन फिल्म एंड टेलीविजन डायरेक्टर्स एसोसिएशन ने साजिद पर सख्त कारवाई की है। सूत्रों के मुताबिक, IFTDA ने साजिद को 1 साल के लिए ससपेंड कर दिया है। अब वह पूरे एक साल तक इंडस्ट्री में कोई काम नहीं कर पाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *