कोरबा : ग्रामीण को हाथी ने पैरों तले कुचला

कोरबा : मवेशी चराने जंगल गए एक ग्रामीण को हाथी ने पैरों तले कुचल दिया। मौके पर ही उसकी दर्दनाक मौत हो गई। पिछले एक पखवाड़े से हाथियों का झुंड इस क्षेत्र में मंडरा रहा था। ग्रामीणों की सूचना पर पुलिस व वन अमला मौके पर पहुंचा। पंचनामा के बाद शव को पीएम के लिए भेज दिया गया है। इस घटना के बाद से ग्रामीण दहशत में हैं।

ये खबर भी पढ़ें – अंबिकापुर: हाथियों ने तीन ग्रामीणों को कुचला, तीनों की मौके पर ही मौत

कटघोरा वनमंडल के पसान के पास स्थित ग्राम बनिया निवासी शिवपाल पिता हरिपाल सारथी 55 ग्रामीणों के मवेशियों को चराने शुक्रवार को जामबहार के पास जंगल गया था। इस बीच शाम करीब 4.30 बजे उसका सामना दंतैल हाथी से हो गया। वह कुछ समझ पाता, इससे पहले ही दंतैल ने सूंड से उठाकर पटक दिया और पैरों तले बुरी कदर कुचल दिया। इस घटना में ग्रामीण की मौके पर ही मौत हो गई। इसकी सूचना मृतक के पुत्र सूरतराम को मिलने पर गांव के सरपंच पति कोमल सिंह के साथ पुलिस तथा वन विभाग की टीम को जानकारी दी। दोनों ही विभाग की टीम कुछ देर बाद मौके पर पहुंची और आवश्यक कार्रवाई की। पीडि़त परिवार को तात्कालिक सहायता राशि प्रदान की गई है।

बताया जा रहा है कि हाथियों का झुंड पिछले दो सप्ताह से कटघोरा वनमंडल के केंदई जंगल में विचरण कर रहा है। ग्राम बनिया व आसपास के क्षेत्रों में फसल को नुकसान पहुंचा रहा है। ग्रामीणों ने इसकी जानकारी वन विभाग को दी थी। हाथी मित्र दल लगातार हाथियों को खदेड़ भी रहा। वन विभाग ने शुक्रवार को जामबहार के जंगल में हाथी की उपस्थिति की मुनादी कराते हुए ग्रामीणों को जाने से मना किया था। बावजूद शिवपाल मवेशी चराने जंगल पहुंच गया। शाम को जब शिवपाल मवेशी चराकर घर लौट रहा था। इसी दौरान यह घटना हुई। पिछले आठ माह में अब तक हाथियों की चपेट में आने से नौ लोगों की मौत हो चुकी है। अभी हाल ही में बाल्को के बेला गांव में करंट की चपेट में आने से एक नर हाथी की भी जान चली गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *