मगहर : मगहर में पीएम नरेंद्र मोदी फूकेंगे 2019 का बिगुल

मगहर : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 2019 लोकसभा चुनाव का बिगुल नरक के दरवाजे (मगहर) से बजाने वाले हैं। दरअसल, पीएम गुरुवार को उत्तर प्रदेश के मगहर में संत कबीर महापरिनिर्वाण स्थली में एक रैली को संबोधित करेंगे और कबीर और उनके एकता के संदेश से जुडऩे की कोशिश करेंगे। बता दें कि कबीर ने इसी स्थली पर अंतिम सांस लेकर यह भ्रम तोडऩे की कोशिश की थी कि मगहर में मरने वाला व्यक्ति नरक में जाता है।

लखनऊ और गोरखपुर के बीच पडऩे वाले मगहर में कबीर का समाधि स्थल और मकबरा आसपास ही स्थित हैं। यहां पीएम मोदी कबीर रीसर्च इंस्टिट्यूट की नींव भी रखेंगे। संत कबीर नगर से भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के सांसद शरद त्रिपाठी ने कहा है कि पीएम लगातार अभियान करते हैं लेकिन यह संयोग है

कि वह कबीर की 500वीं पुण्यतिथि पर मगहर में जनसभा करेंगे। कबीर का संदेश पीएम मोदी के सबका साथ, सबका विकास नारे के पीछे की प्रेरणा है। इसलिए कहलाया नरक का दरवाजा महंत विचार दास बताते हैं कि कबीर के समय में काशी के पंडितों को गौतम बुद्ध के वाराणसी में बढ़ते प्रभाव का डर सताने लगा।

उन्होंने यह विचार फैलाया कि वाराणसी में मरने वाला व्यक्ति मुक्ति पाएगा जबकि मगहर में मरने वाला नरक जाएगा। कबीर ने इसे तोडऩे के लिए अपने आखिरी साल मगहर में बताए। बताया जाता है कि मगहर को नरक कहने के पीछे कई कारण हैं। जैसे कि पहले यह एक बंजर जमीन थी जो नरक सी लगती थी।

कई लोग कहते हैं कि इस रास्ते पर जाने वाले लोग लूट लिए जाते थे। समाधि और मकबरा कबीर समाधि स्थल समिति के सदस्य उदय नारायण राय बताते हैं कि जब कबीर का निधन हुआ, हिंदुओं और मुस्लिमों में इस बात को लेकर विवाद हो गया कि उन्हें दफनाया जाया या जलाया जाए।

उस वक्त कहीं से आवाज आई कि कबीर के ऊपर पड़ी चागर हटाकर देखा जाए। जब चादर हटाई गई तो देखा गया कि उसमें दो फूल थे। दोनों फूलों से एक समाधि स्थल और मकबरा बनाया गया। विकास की उम्मीद

पीएम की जनसभा से लोगों को उम्मीद जगी है कि यहां अब विकास होगा। मकबरे के केयरटेकर खादिम हुसैन अंसारी कहते हैं कि सरकार ने मगहर में स्पिनिंग मिल को दोबारा शुरू करने का वादा किया है। पीएम पहले ही 400 करोड़ का प्रॉजेक्ट मगहर के नाम कर चुके हैं। इससे मगहर का विकास होने की उम्मीद होगी।

ये भी खबरें पढ़ें – रांची : झारखंड में मानसून ने दी दस्तक

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *