रायपुर : भूपेश बघेल ने विमोचित किया अगासदिया कंगला मांझी अंक

रायपुर : कंगला मांझी की तीन दिवसीय पुण्य तिथि समारोह दिवस पर अगासदिया के मांझी विशेषांक का विमोचन कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल ने किया । इस अंक में कंगला मांझी के जीवन पर केन्द्रित विशेष आलेख है । उल्लेखनीय है कि भूपेश बघेल मांझीधाम बघमार में 2011 में मुख्य अतिथि के रूप में गये थे । वहां मांझी सैनिकों के परेड़ का निरीक्षण कर उन्होंने कहा था कि अनुशासन राष्ट्रप्रेम एकता की मिशाल है यह सेना । इससे हमें बल मिलता है । विमोचन करते हुए भूपेश बघेल ने पुन: इन्हीं भावों को दुहराते हुए कहा कि आदिवासी संस्कृति उदारता और सेवा की संस्कृति है । इस भाव को कंगला मांझी ने जगाया ।

ये खबर भी पढ़ें – रायपुर : स्वस्थ भारत यात्रा : सायकल रैली आज पहुंचेगी राजधानी रायपुर

5 दिसम्बर को 3 बजे बघमार में कंगला मांझी समारोह का उद्घाटन हुआ । कंगला मांझी शासकीय महाविद्यालय डौंडी के प्राचार्य यू.एस. मिश्रा मुख्य अतिथि राजमाता फु लवादेवी अध्यक्ष डॉ. परदेशीराम वर्मा विशेष अतिथि थे । कार्यक्रम में पूजन के बाद गायन हुआ । परदेशीराम वर्मा ने बताया कि कंगला मांझी छसगढ़ के स्वाभिमान के प्रतीक थे । सबको जोडऩे का अनोखा काम उन्होंने किया । आदिवासी समाज युगों से ठगा गया है । अब जागरण की सुगबुगाहट देख चारों ओर चर्चा में है । यह सिलसिला आगे बढ़े यह जरूरी है । कुभदेव कांगे ने सैनिक परेड का निरीक्षण किया । देश के सभी प्रांतो के मांझी सैनिक जुटे हैं ।

ये खबर भी पढ़ें – रायपुर : मतगणना को लेकर निर्वाचन आयोग की बैठक कल

छसगढ़ के समाजवादी चिंतक एवं सर्वसमाज के अग्रदूत रहें आदिवासी समाज में पूजे जाने वाले संघर्षशील व्यक्तित्व हीरासिंह देव कांगे उफ कंगला मांझी की स्मृति में आयोजित त्रिदिवसीय समारोह में 6 दिसम्बर को दोपहर 2.00 बजे छसगढ़ के चार सेवाभावी विशिष्टजनों का सम्मान किया जायेगा । माता दंतेवा़डिऩ सैनिक संगठन की अध्यक्ष राजमाता फुलवा देवी तथा सैनिकों के प्रमुख कुंभदेव कांगे इस सम्मान समारोह के संरक्षक है । इस अवसर पर आदिवासी समाज के सपूत ए.पी. साडि़ल्य, संयुक्त आयुक्त (विकास) सरगुजा संभाग को कंगला मांझी स्मृति सम्मान 2018 प्रदान किया जायेगा । सर्व पाठक परदेशी को कोदूराम वर्मा स्मृति सम्मान, दिनेश गौतम को नारायण लाल परमार सम्मान तथा गजेन्द्र झा को शहीद दुर्वासालाल निषाद अतिथिगण प्रदान करेंगे । इस सम्मान समारोह में पाठक परदेशी लिखित पुस्तक माते महीना फागुन का विमोचन भी होगा ।

समारोह के मुख्य अतिथि डी.एस. परगनिहा मुख्य अभियंता छ.ग. शासन तथा अध्यक्ष कृषि विभाग के डायरेक्टर एस.आर. वर्मा होंगे । डॉ. अरूण मढ़रिया, डॉ. लाकेश मढ़रिया, कमल वर्मा, टी.एस. वर्मा, बी.एल. धु्रव, मुन्नीलाल निषाद, मती ममता शर्मा साहित्यकार रायपुर होंगे ।इस अवसर पर वन क्षेत्रों से आये प्रख्यात कलाकार आदिवासी मंचीय कलाओं का प्रदर्शन करेंगे। आल्हा लेखन के लिए चर्चित नारायण चंद्राकर के नेतृत्व में आल्हा गायक विशेष प्रस्तुति देंगे ।
अगासदिया के संपादक डॉ. परदेशीराम वर्मा ने अंक में संग्रहित आलेखों के बारे में बताते हुए कहा कि कंगला मांझी ने दलितों, पिछड़ों एवं अधिकारहीन सभी समाज को जोडक़र सेना खड़ा किया । गांव गांव में उनके सैनिक सेवा करते हैं । इस अवसर पर नारायण चंद्राकर एवं अगासदिया परिवार के सदस्यगण उपस्थित थे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *