बड़ी खबरेंछत्तीसगढ़रायपुर

5 राज्यों के विधायकों की संपत्ति के बराबर है टीएस बाबा की दौलत, सीएम भूपेश से कहीं आगे

टीएस बाबा

छत्तीसगढ़ की राजनीती में टीएस सिंहदेव एक बड़ा चेहरा है, सौम्य छवि, दमदार व्यक्तित्व के धनी टीएस बाबा प्रदेश कांग्रेस के दिग्गज नेता हैं और वर्तमान में राज्य सरकार में स्वास्थ्य मंत्री का दायित्व निभा रहे हैं। टीएस सिंहदेव सरगुजा राज परिवार के प्रमुख हैं पूर्व में छत्तीसगढ़ विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष की भूमिका भी बखूबी अदा कर चुके हैं। दौलत और शोहरत में वो देश के अच्छे अच्छे राजनेताओं को मात देते हैं। कहा जाता है कि अगर पांच राज्यों के विधायकों की संपत्ति को मिला दिया जाए तो इसके बराबर अकेले टीएस सिंहदेव के पास अकूत दौलत है। यह सारी जानकारी एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (एडीआर) द्वारा जारी विभिन्न राज्यों के विधायकों द्वारा भरे गए चुनावी हलफनामे से ली गई है।

जानकारी के मुताबिक अंबिकापुर विधायक टीएस सिंहदेव 5 सौ करोड़ से अधिक की संपत्ति के मालिक हैं लेकिन बैंक का उन पर 62 लाख रुपए से अधिक कर्ज भी है। सिंहदेव के पास आठ करोड़ की अचल संपत्ति व गहने हैं। 1 करोड़ 13 लाख के उनके पास सोने और हीरे के जेवरात हैं। लेकिन पिछले पांच सालों में सिंहदेव की लगभग 50 करोड़ की संपत्ति कम हुई है। पिछले चुनाव में अपनी संपत्ति का निर्वाचन आयोग को जो ब्यौरा उन्होंने दिया था उसमें कुल संपत्ति 551 करोड़ रुपए जबकि वर्तमान में 5 सौ करोड़ 4 लाख 7 हजार 613 रुपए 55 पैसे उनकी कुल संपत्ति है। सिंहदेव के नाम पर बैंक में 62 लाख रुपए के कर्ज हैं जो उन्होंने गाड़ी के लिए थे।

इसके अलावा टीएस सिंहदेव की कुल संपत्ति में 4 सौ 92 करोड़ रुपए कीमत की उनकी जमीन है जो उन्हें विरासत में मिली है। पिछले पांच साल में उनकी कुल संपत्ति में कमी जमीन से आई है। शहर में अलग-अलग जगहों पर उन्होंने अपनी जमीन बेची है। सिंहदेव दस सालों से अंबिकापुर से विधायक हैं। सरगुजा राज परिवार के प्रमुख सिंहदेव को ज्यादातर संपत्ति विरासत में मिली है। वहीं इसके अतिरिक्त 2013 में उनकी कुल संपत्ति लगभग 551 करोड़ थी। सिंहदेव की संपत्ति वर्ष 2008 से 2013 और 2013 से 2018 के बीच लगातार कम हुई है।

2013 के चुनाव के समय 551 करोड़ 46 लाख 98 हजार 685 रुपये की कुल संपत्ति थी। 2018 के विधानसभा चुनाव में नामांकन भरने से पहले भरे गए शपथ पत्र में उन्होनें जानकारी दी थी कि उनके हाथ में नगदी दो लाख 80 हजार, आयकर रिटर्न के अनुसार वार्षिक आय 7.43 लाख रुपये थे। बैंक खातों में कुल जमा राशि 22.09 लाख रुपये, कंपनियों भागीदारी शेयरों में निवेश व प्रदत्त ऋण 8.30 करोड़, कुल 1.03 करोड़ जेवरात विरासत में मिले हैं। हथियार व साउंड सिस्टम 2.50 लाख रुपये का है। सकल चल संपत्ति मूल्य 9.58 करोड़ रुपये है।

वहीं टीएस सिंहदेव के पास लक्जरी गाड़ियों का बेहतरीन कलेक्शन है। उनके पास मर्सडिस, एक ऑडी, एक होंडा सिविक सहित पांच गाड़ी रजिस्टर्ड हैं। बहरहाल, टीएस बाबा की संपत्ति में भले ही 50 से 60 करोड़ रुपए की कमी हो गई हो मगर बावजूद इसके वो अब भी छत्तीसगढ़ के सबसे एयर विधायक का वर्चस्व बरक़रार रखे हुए हैं।वैसे आप टीएस बाबा के इतने रसूखदार और इतने दौलती होने के बावजूद सौम्य व्यक्तित्व रखने की वजह क्या मानते हैं क्या ऐसा इसलिए की वो जनप्रतिनिधि हैं या फिर वो जनता के बीच अपनी दौलत का अहम् नहीं दिखाना चाहते।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button