रायपुर : केन्द्रीय राज्य मंत्री हेगड़े ने छत्तीसगढ़ में कौशल विकास के लिए हो रहे कार्यों की सराहना की

रायपुर : केन्द्रीय कौशल विकास एवं उद्यमिता राज्य मंत्री अनंत कुमार हेगड़े ने छत्तीसगढ़ प्रवास के दौरान आज राजधानी रायपुर के न्यू सर्किट हाउस में विभागीय अधिकारियों की बैठक ली। छत्तीसगढ़ के कौशल विकास, तकनीकी शिक्षा एवं रोजगार मंत्री प्रेमप्रकाश पाण्डेय की उपस्थिति में आयोजित बैठक में राज्य में कौशल विकास संबंधी कार्यों के बारे में विस्तार से चर्चा हुई। हेगड़े ने छत्तीसगढ़ में युवाओं के कौशल विकास के क्षेत्र में राज्य शासन द्वारा किए जा रहे कार्यों की सराहना की।

केन्द्रीय राज्य मंत्री हेगड़े ने कहा कि छत्तीसगढ़ में कौशल विकास कार्यक्रमों के प्रभावी संचालन के लिए केन्द्र सरकार की ओर से हर संभव सहयोग दिया जा रहा है। उन्होंने कौशल विकास कार्यक्रम के तहत प्रशिक्षण प्राप्त कर चुके युवाओं को तत्परता से रोजगार से जोडऩे विशेष जोर दिया। हेगड़े ने युवाओं को सुविधापूर्वक कौशल विकास का प्रशिक्षण प्राप्त हो सके,

इसके लिए राज्य को कौशल विकास केन्द्र आदि खोलने और इनमें आवश्यक संसाधनों की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए आवश्यक निर्देश दिए। उन्होंने राज्य के सभी 27 जिलों में प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना के तहत केन्द्र खोलने के लिए भी निर्देशित किया। हेगड़े ने युवाओं के कौशल विकास का सही ढंग से उपयोग सुनिश्चित करने स्थानीय जरूरतों के मुताबिक उनके कौशल विकास का प्रशिक्षण दिए जाने के लिए जोर दिया।

उन्होंने क्षेत्र में इसका व्यापक प्रचार-प्रसार कर युवाओं को कौशल विकास कार्यक्रमों से जोडऩे के लिए प्रोत्साहित करने भी आवश्यक निर्देश दिए। छत्तीसगढ़ के कौशल विकास एवं तकनीकी शिक्षा मंत्री पाण्डेय ने बैठक में राज्य में कौशल विकास के लिए सरकार द्वारा चलाए जा रहे कार्यक्रमों तथा गतिविधियों के बारे में विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने अवगत कराया कि छत्तीसगढ़ देश का पहला राज्य है, जहां युवाओं को उनके कौशल उन्नयन का कानूनी अधिकार दिया है।

इसके तहत राज्य के सभी 27 जिलों में लाइवलीहुड कॉलेज संचालित हो रहे हैं। राज्य में संचालित दो हजार 515 व्हीटीपी केन्द्रों के माध्यम से 109 सेक्टरों में 804 ट्रेडों में युवाओं को कौशल विकास का प्रशिक्षण दिया जा रहा है। छत्तीसगढ़ में मुख्यमंत्री कौशल विकास योजना के तहत पिछले वर्ष 2017-18 में एक लाख 44 हजार 181 युवाओं को विभिन्न ट्रेडों में प्रशिक्षण दिया गया।

इनमें से लगभग 56 प्रतिशत लोगों को रोजगार से जोड़ दिया गया है। यहां सभी जिलों में कौशल विकास प्रशिक्षण प्राप्त युवाओं को रोजगार से जोडऩे के लिए कलेक्टरों द्वारा जिलों में रोजगार मेले भी आयोजित किए जा रहे हैं। इस अवसर पर सचिव कौशल विकास, तकनीकी शिक्षा एवं रोजगार डॉ. कमलप्रीत सिंह, छत्तीसगढ़ राज्य कौशल विकास प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालन अधिकारी डॉ. बासव राजु सहित विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।

रायपुर : नये प्रयोग करने वाले किसान बदल सकते हैं छत्तीसगढ़ की तस्वीर : बृजमोहन अग्रवाल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *