छत्तीसगढ़चुनावी चौपालबड़ी खबरेंरायपुर

इस बार इन नेताओं का कट सकता है टिकट,2023 की राह जिनके लिए नहीं होगी आसान

इन नेताओं का कट सकता है टिकट

नमस्कार दोस्तों, फोर्थ आई न्यूज़ में आप सभी का एक बार फिर से स्वागत है। दोस्तों जैसा कि आप भी जानते हैं कि इस साल के अंत में हमारे प्रदेश में विधानसभा चुनाव होने हैं। और इसके लिए सभी राजनितिक दलों ने अपनी तैयारी भी शुरू कर दी है। दोस्तों इस बार का चुनाव काफी दिलचस्प होने जा रहा है। लेकिन इस बार इस दिलचस्प चुनाव में कुछ राजनेताओं के लिए डगर आसान नहीं होने वाली। आइए एक नज़र डालते हैं ऐसे ही कुछ राजनेताओं पर जिनका टिकट इस बार कट सकता है।

सत्यनारायण शर्मा : सत्यनारायण शर्मा रायपुर ग्रामीण विधानसभा सीट से कांग्रेस के विधायक हैं। इन्होनें पिछले चुनाव बीजेपी के नंदे साहू के खिलाफ लड़ा था। जिन्होनें सत्तू भैया से करारी शिकस्त खाई थी। मगर सूत्र बताते हैं कि इस बार पार्टी ग्रामीण विधानसभा सीट से सत्यनारायण शर्मा की जगह किसी युवा चेहरे को मौका दे सकती है। प्रबल संभावना है कि सत्यनारायण शर्मा के बेटे पंकज शर्मा इस सीट से अपनी दावेदारी करें क्योंकि सत्यनारायण शर्मा की वरिष्टता और उनकी लोकप्रियता को भुनाने के लिए इस सीट से पंकज शर्मा पार्टी के लिए एक बेहतरीन अवसर हो सकते हैं। सत्यनारायण शर्मा के राजनितिक करियर को और करीब से जानने के लिए आप ऊपर आई बटन पर क्लिक कर सकते हैं।

राजेश मूणत : राजेश मूणत रायपुर पश्चिम विधानसभा सीट से पूर्व में बीजेपी से विधायक रह चुके हैं। वो हमारे प्रदेश के पीडब्डल्यूडी जैसे अहम् विभागों की ज़िम्मेमदारी भी संभाल चुके हैं। पश्चिम विधानसभा सीट पर बीजेपी ने उन्हें साल 2018 के विधानसभा चुनावों में एक बार फिर मौका दिया था लेकिन मूणत इस मौके को भुना नहीं पाए और कांग्रेस के विकास उपाध्याय ने उन्हें हराकर पश्चिम विधानसभा सीट पर अपना कब्ज़ा जमाया। अब जब चुनाव निकट आ रहे हैं तब एक बार फिर राजेश मूणत की सक्रियता इस क्षेत्र में लगातार बढ़ती ही जा रही है। आप इन दिनों उन्हें साइंस कॉलेज मैदान में बनने वाली चौपाटी के विरोध में प्रदर्शन करते हुए देख सकते हैं। मगर बीजेपी इस बार उनका टिकट काट सकती है और उनकी जगह पार्टी के किसी और पुराने नेता को टिकट सकती है। हमने राजेश मूणत पर भी एक स्पेशल स्टोरी बनाई है जिसे आप ऊपर आई बटन क्लिक करके देख सकते हैं।

श्रीचंद सुंदरानी : श्रीचंद सुंदरानी रायपुर उत्तर विधानसभा सीट से बीजेपी के विधायक रहे हैं। उत्तर विधानसभा क्षेत्र सिंधी समाज बाहुल्य है। लेकिन बीते चुनाव में लगता है समाज ने सुंदरानी का साथ नहीं दिया और उनकी जगह कांग्रेस के कुलदीप जुनेजा को भारी मतों से विजई बनाया। श्रीचंद सुंदरानी को इस बार टिकट देने के लिए बीजेपी का किसी तरह का विचार नज़र नहीं आ रहा है। उनकी जगह पार्टी किसी और वरिष्ठ नेता को इस सीट से मौका दे सकती है।

धरमलाल कौशिक : धरमलाल कौशिक बिलासपुर की बिल्हा विधानसभा सीट से विधायक हैं। कई बार उन्होनें इस सीट पर अपनी विधायकी का परचम लहराया है। इस बार चुनाव जीतने के बाद पार्टी ने उन्हें विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष जैसी अहम उपाधि से नवाजा मगर पिछले साल यह ताज उनसे छिन गया। इस बार प्रबल सम्भावना है कि पार्टी उनकी जगह इस सीट से किसी नए चेहरे को मौका दे सकती है और कौशिक की टिकट इस तरह कट सकती है।

शैलेश पांडेय : शैलेश पांडेय बिलासपुर से कांग्रेस विधायक हैं। जिन्होनें अपनी राजनीतिक पारी की शुरुआत में ही विधानसभा का चुनाव जीता। 2018 के चुनाव में जीत के बाद से ही शैलेश पांडेय काफी विवादों में रहे। कभी अपने व्यवाहर को लेकर तो कभी अनुशासनहीनता के आरोपों में पार्टी में कई बार उनकी किरकिरी हुई। उनके विवाद पर हमने पहले से ही एक स्टोरी बना रखी है जिसे आप ऊपर आई बटन क्लिक करके देख सकते हैं। वैसे इस बार पार्टी शैलेश पांडेय की जगह किसी अविवादित चेहरे को बिलासपुर से मौका दे सकती है।

शकुंतला साहू : यह हमारे प्रदेश की सबसे युवा विधायकों में से एक हैं। शकुंतला साहू कसडोल से कांग्रेस की विधायक हैं जिन्होनें 2018 के विधानसभा चुनावों में बीजेपी के दिग्गज नेता गौरीशंकर अग्रवाल को हराया था। शुरुआत में तो सबकुछ ठीक था लेकिन आगे चलकर शकुंतला साहू काफी विवादों में आ गईं और जनता को भी उनका व्यवहार पसंद नहीं आया जिसके चलते कांग्रेस को भी काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ा। इस बार खबर मिल रही है कि कांग्रेस शकुंतला साहू का टिकट काटकर किसी और महिला नेत्री को चुनावी मैदान में उतार सकती है।

बहरहाल, इन राजनेताओं के लिए 2023 की डगर आसान नहीं रहने वाली। और अपनी टिकट बचाने के लिए यह काफी जद्दोजहद करते हुए नज़र आएँगे। इन नेताओं के विधानसभा क्षेत्रों पर भी क्या आप विश्लेषण देखना चाहेंगे ? और इनके अलावा और कौनसे ऐसे नेता हैं जिनकी टिकट इस बार उनकी पार्टी काट सकती है ?

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button