Sachin Pilot को सरकार में शामिल क्यों नहीं करना चाहते Ashok Gehlot ?

राजस्थान की राजनीति में सचिन पायलट एक ऐसा नाम है जो आज की तारीख में सीएम अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) से भी ज्यादा लोगों की पसंद हैं । लेकिन वक्त और राजनीतिक परिस्थियों के चलते सचिन पायलट (Sachin Pilot) इन दिनों हासिये पर चल रहे हैं । कुछ महीनों पहले उनके एक कदम के बाद आज वे राजस्थान कांग्रेस के विरोधी खेमे के निशाने पर हैं ।

ये खबर भी पढ़े – राजस्थान में भी टूट के कगार पर पहुंची कांग्रेस, पायलट का दावा- 30 एमएलए का सपोर्ट

अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) जैसे चतुर और मंझे हुए राजनेता अब किसी भी तरह से अपने भविष्य को लेकर रिस्क नहीं लेना चाहते । यही वजह है कि आम लोगों में लोकप्रिय होने के बावजूद सचिन पायलट (Sachin Pilot) राजस्थान की राजनीति में इस वक्त हासिये पर नजर आते हैं ।

अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) को करीब से समझने वाले बताते हैं कि इस सरकार में अब सचिन पायलट (Sachin Pilot) महज एक विधायक बनकर ही रह जाएंगे और अगले चुनाव में भी अगर कांग्रेस की जीत होती है, तब भी अशोक गहलोत(Ashok Gehlot) किसी भी सूरत में उन्हें आगे नहीं बढ़ने देंगे ।

हालांकि सचिन पायलट (Sachin Pilot) ने बहुत कोशिश की, कि वे राहुल गांधी के नजदीक रहें, लेकिन तमाम कोशिशों के बाद भी अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) जो कि राहुल गांधी की मां सोनिया गांधी के करीबी माने जाते हैं ।

उन्होने पिछले चुनाव और सचिन पायलट (Sachin Pilot) की बगावत के बाद राहुल गांधी खेमे की एक नहीं चलने दी । उलटे सचिन पायलट (Sachin Pilot) राहुल गांधी को भी नाराज कर चुके हैं । और उनके समर्थकों के साथ उन्हें खुद भी उपमुख्यमंत्री की सीट गंवानी पड़ गई ।

अब कांग्रेस से अलग पायलट का भविष्य क्या हो सकता है, इसे जानने के लिए हमें थोड़ा इंतजार करना होगा । क्योंकि जितने विधायक फिलहाल सचिन पायलट (Sachin Pilot) के खेमें में है, उससे वे गहलोत सरकार को कुछ बिगाड़ नहीं पाएंगे । और जिन हालातों में उनके और अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) के रिश्ते पहुंच चुके हैं, उसके बाद कांग्रेस में भी अब पायलट की पहले जैसी छवि नहीं रह गई है ।

लिहाजा पायलट फिलहात तो वेट एंड वॉच की स्थिति में हैं । वे फिलहाल पूरी कोशिश कर हैं कि खुद को एक बार फिर से कांग्रेस और गांधी परिवार का सच्चा सिपाही साबित कर सकें ।

आप क्या सोचते हैं कि अगर अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) सरकार लगातार सचिन पायलट (Sachin Pilot) को ऐसे ही नजर अंदाज करते रहे, तो उन्हें क्या कदम उठाना चाहिए । आप इस मुद्दे पर नीचे कमेंट कर अपनी राय रख सकते हैं ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button